देश में हर 3 में से 1 लड़की को सार्वजनिक स्थलों पर रहता है यौन उत्पीड़न का डर – रिपोर्ट

demo pic

Girls Assault Public Places : सेव द चिल्ड्रेन ने सर्वे के आधार पर जारी करी है रिपोर्ट

Girls Assault Public Places : सार्वजनिक स्थलों पर लड़कियों से यौन उत्पीड़न और हिंसा के मामलो में एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है.

गैर सरकारी संस्था सेव द चिल्ड्रेन ने अपने एक सर्वेश्रण में पाया है कि देश में हर तीन में से एक लड़की(13-19साल) को सार्वजिनिक स्थलों पर यौन उत्पीड़न का डर बना रहता है.
वहीं देश में हर पांच में से एक लड़की इन जगहों पर मारपीट और दुष्कर्म को लेकर चिंतित हैं.
बता दें कि इस सर्वे में देश के 6 राज्यों, 30 शहरों, 12 जिलों और 84 गांवों में से 4000 से ज्यादा लड़के लड़कियों और 800 माता पिता को शामिल किया गया था.
यह भी पढ़ें – भारत के 83 फीसदी कर्मचारी बेहतर सैलरी के लिए बदलते हैं अपनी नौकरी – सर्वे
दो तिहाई लड़कियां मां से करती हैं शिकायत
इस सर्वे के मुताबिक शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की सिर्फ दो तिहाई लड़कियां ही अपने साथ हुई छेड़छाड़ की घटना को मां को बताती हैं.
जबकि 5 में से 2 लड़कियों का मानना है कि सार्वजनिक स्थलों पर हुई छेड़छाड़ के बारे में घर वालों को पता चलने के बाद वो उनके घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा देते हैं.
इस रिपोर्ट के सार्वजनिक होने के बाद महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने कहा कि एक अच्छा समाज बनाने के लिए जरूरी है कि किसी भी योजना को बनाने में पुरूष और महिलाओं की भमिका बराबर होनी चाहिए.
इसके अलावा लड़कियों से संबंधित हर योजना में उनके अधिकारों और सुरक्षा के प्रति ध्यान दिया जाना चाहिए.