Income Tax Return File 2018 : आईटीआर फाइल करने से संबंधित सभी सवाल का जवाब पाएं यहां

Income Tax Return File 2018

Income Tax Return File 2018 : ITR फाइल करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2018

Income Tax Return File 2018 : इस साल के वित वर्ष के आईटीआर रिर्टन भरने की आखिरी तारीख केंद्रीय कर विभाग ने 31 जुलाई निर्धारित की है.
करदाताओं को इस तारीख से पहले आईटीआर फाइल करना होगा अन्यथा भारी पेनल्टी चुकाना पड़ सकती है.
अगर आप सरकारी कर्मचारी है यो कोई कारोबार करते हैं तो आपके लिए आईटीआर फाइल करना बेहद जरूरी है.
आइए जानते हैं कि ITR फाइल करने के कुछ आसान से तरीकों और उससे जुड़ी कई जानकारी के बारे में.
किसे भरना होगा टैक्स
जिसकी आय सालाना टैक्सेबल आय 2.50 लाख रुपये से ज्यादा है उसे रिटर्न फाइल करना अनिवार्य है. आपको बता दें कि जिसकी सालाना आय 5 लाख रुपये से ज्यादा है उसे ऑनलाइन ITR फाइल करना अनिवार्य कर दिया गया है.
सुपर सीनियर सिटीजन (जिनकी उम्र 80 साल से ज्यादा हो) वो ऑफलाइन रिटर्न भर सकते हैं. वहीं टैक्सेबल इनकम सालाना 2.50 लाख रुपये से कम वाले करदाताओं को ITR भरना अनिवार्यता नहीं है.
पढ़ें – सुकन्या समृद्धि योजना में अब सिर्फ 250 रुपए में खुलेगा खाता,गरीब परिवारों को राहत
आईटीआर फाइल करने के तरीके 
आपको बता दें कि टैक्स रिटर्न फाइल करने के 2 तरीके हैं जिसमें पहला तरीका यह है कि आप खुद कर विभाग जाकर फाइल कर सकते हैं और दूसरा तरीका ऑनलाइन तरीके से आप अपना रिटर्न फाइल कर सकते हैं .
ऑनलाइन टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए दी गई वेबसाइट (www.incometaxindiaefiling.gov.in) पर जाकर आपको ITR फार्म डाउनलोड करना होगा.
इसके बाद ई-फिंलिंग की इस प्रक्रिया में सही फार्म चुनकर रिर्टन भरने के लिए पैन कार्ड समेत कई जरूरी कागजात जैसे कि फॉर्म 16, पॉर्म 26AS, बैंक स्टेटमेंट, पिछले साल फाइल की गई रिटर्न की कॉपी, म्यूचूअल फंड्स के कैपिटल गेन स्टेटमेंट की जानकारी भरनी होगी.
Online प्रक्रिया में आईटीआर फाइल करने के लिए पूरा फॉर्म भरने के बाद सिर्फ 15 मिनट का समय लगता है, फॉर्म भरते ही कंफर्मेशन भी तुरंत मिल जाता है.
वहीं यदि आप ऑफलाइन प्रक्रिया का चुनाव करते हैं तो आईटीआर फॉर्म डाउनलोड कर आप इसे आराम से बैठकर भर सकते हैं. फॉर्म भरने के बाद इसे सेव कर इनकम टैक्स की वेबसाइट पर लॉग इन करके अपलोड कर सबमिट करना होता है.
वृद्ध करदाता आईटीआर फॉर्म बाजार से खरीदकर उसे भरकर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में जाकर जमा करा सकते हैं और स्टांप रसीद भी प्राप्त कर सकते हैं.
कैसे करें ITR फॉर्म डाउनलोड
सबसे पहले incometaxindiaefiling.gov.in वेबसाइट  पर जाएं. जिसके बाद बायीं तरफ लिखे Quick Links के नीचे Submit Returns/Forms का ऑप्शन दिखाई देगा.
जिस पर क्लिक करते ही आपके सामने Home के बराबर में Downloads का ऑप्शन मिलेगा. इसे क्लिक कर आपको Income Tax Return Preparation Utilities का ऑप्शन दिखाई दे जाएगा जिसके बाद ITR फॉर्म की पूरी सूची आपके सामने होगी.
करदाता अपनी जरूरत के हिसाब से फॉर्म को डाउनलोड कर सकते है. बता दें कि आमतौर पर ITR-1 ही डाउनलोड करना होता है. आप इसका एक्सल यूटिलिटी फॉर्म डाउनलोड करें जिससे आपको रिर्टन भरने में आसानी होगी.
पढ़ें – 100 रूपये के नए नोट के पीछे छपी है एक ऐसी फोटो, जिसके बारे में आप भी जान लीजिए
ITR फाइल करने के फायदे 
अपना कारोबार शुरू करने के लिए आईटीआर बहुत महत्वपूर्ण है. साथ ही किसी भी कॉन्ट्रैक्ट या सरकारी विभाग में ठेका पिछले पांच साल का इनकम टैक्स रिटर्न दिखाकर ही हासिल किया जाता है.
यदि आप बैंक से लोन और क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं तो आईटीआर दिखा कर आसानी से लोन प्राप्त कर सकते हैं.
साथ ही इसका फायदा बीमा कवर में भी मिलता है बता दें कि आईटीआर प्रूफ के बाद ही इंश्योरेंस कंपनीयां बीमा करती हैं.
आईटीआर का सबसे बड़ा फायदा आपको वीजा पाने में होता है. अधिकतर विदेशी दूतावास वीजा एप्लिकेशन के साथ पिछले दो साल का आईटीआर प्रूफ मांगते हैं.