भारत में हर 5 में से 3 ड्राइवर गाड़ी चलाते वक्त करते हैं मोबाइल फोन का इस्तेमाल – रिपोर्ट

Indian Driving Survey
demo pic

Indian Driving Survey : फोन इस्तेमाल में उत्तर भारतीय सबसे आगे

Indian Driving Survey : भारत में बढ़ते सड़क हादसे इस बात का सबूत हैं कि हम भारतीय गाड़ी चलाते वक्त कितनी लापरवाही बरतते हैं, और जब से हमारे बीच मोबाइल का प्रचलन बढ़ा है तब से मानो स्थिति बेकाबू सी हो गई है.

हालांकि गाड़ी चलाते समय मोबाइल का इस्तेमाल करना गैरकानूनी है, मगर फिर भी लोग इस नियम को ताक पर रख कर ड्राइविंग के दौरान फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं और खुद के साथ साथ दूसरों की भी जान जोखिम में डाल रहे हैं.
बता दें कि हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक अपने देश में हर 5 में से 3 ड्राइवर गाड़ी चलाते वक्त फोन पर बात करते हैं.
Nisan मोटर इंडिया और Kantar IMRB ने अपने एक साझा सर्वे में ड्राइविंग के दौरान ओवर स्पीडिंग, फोन का इस्तेमाल, पंक्चुएलिटी आदि पैमानों को आधार मानते हुए एक रिपोर्ट तैयार करी है.
य़ह भी पढ़ें – जानिए 2018 कॉमनवेल्थ खेलों के वेटलिफ्टिंग इवेंट में किन खिलाड़ियों ने भारत को दिलाया पदक
फोन इस्तेमाल में उत्तर भारतीय सबसे आगे
रिपोर्ट के अनुसार उत्तर भारत के 62 फीसदी लोगों ने माना की वो कार चलाते समय फोन का इस्तेमाल करते हैं,जबकि दक्षिण भारत में ऐसा सिर्फ 52 प्रतिशत ही मानते है.
वही अगर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात करें तो वहां 63.7 फीसद लोगों ने ड्रइविंग के दौरान फोन इस्तेमाल करने की बात स्वीकारी है.
ओवर स्पीडिंग में केरल नंबर वन
गौरतलब है कि तेज गति से गाड़ी चलाना भी दुर्घटना का बड़ा कारण माना जाता है और इस मामले में दक्षिण भारत का केरल नंबर एक पर है.
यहां 60 प्रतिशत लोगों ने माना कि वह तय सीमा से अधिक गति से वाहन चलाते हैं. बल्की दिल्ली में 51 और पंजाब में 28 प्रतिशत लोगों ने माना कि वो अपनी गाड़ी को ओवर स्पीड चलाते हैं.
पति की ड्राइव पर महिलाएं करती ज्यादा भरोसा
निसान कनेक्टड फैमिलीज‘ के नाम से हुए इस सर्वे में करीब 20 राज्यों से 2100 व्यस्क पुरूष और महिलाओं से उनकी ड्राइविंग आदतों से जुड़े सवाल पूछे गए थे.
जिसमें 64 पर्सेंट महिलाओं का मानना है कि वह अपने पति की ड्राइविंग पर सबसे ज्यादा भरोसा करती हैं, जबकि 37 पर्सेंट पुरुषों ने यह माना कि वह अपनी पत्नी की ड्राइविंग पर भरोसा करते हैं.