Indian Navy Day 2018 : इस वजह से 4 दिसंबर को मनाया जाता है भारतीय नैसेना दिवस

Indian Navy Day 2018

Indian Navy Day 2018 : 47 साल पहले आज ही के हमारी नौसेना ने पाकिस्तान को जंग के मैदान पर धूल चटा दी थी.

Indian Navy Day 2018 : आज का दिन हम भारतीयों के लिए गौरव का दिन है, क्योंकी 47 साल पहले आज ही के हमारी नौसेना ने पाकिस्तान को जंग के मैदान पर धूल चटा दी थी.

इस वीरता भरे पलों को याद करने के लिए हर साल 4 दिसंबर को भारतीय नौसेना दिवस मनाया जाता है.
इस दिवस को 1971 में भारत पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध में भारतीय नौसेना की जीत के जश्न औऱ पराक्रम के रूप में मनाया जाता है.
ऑपरेशन ट्राइडेंट को दिया अंजाम
बता दें कि ईस्ट पाकिस्तान(आज का बंगलादेश) जब पाकिस्तान से अलग होने होनी की घोषणा करी तो भारत ने उसे सुरक्षा का पूरा भरोसा दिया.
इससे बौखलाए पाकिस्तान ने 3 दिसंबर को हमारे हवाई क्षेत्र और सीमावर्ती इलाकों में हमला करना शुरू कर दिया और यहीं से दोनों देशों के बीच युद्ध शुरू हो गया.
पढ़ें ड्रोन उड़ाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की शुरुआत, जानिए सभी महत्वपूर्ण बातें
हमारी नौसेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए ऑपरेशन ट्राइडेंट चलाया.यह अभियान पाकिस्‍तानी नौसेना के कराची स्थित मुख्‍यालय को निशाने पर लेकर शुरू किया गया जिसे 4 दिसंबर को अंजाम दिया जाना था.
भारत ने कराची बंदरगाह पर रात के समय हमला करने की तैयारी शुरू करी क्योंकी रात के वक्त वो किसी भी तरह के युद्ध के लिए तैयार नहीं था.

एक मिसाइल, नाव और दो युद्ध-पोत के एक समूह ने कराची के तट पर स्थित जहाजों पर हमला कर दिया जिसमें उनके जहाज तबाह हो गए.

बता दें कि इस युद्ध में पहली बार जहाज पर मार करने वाली एंटी शिप मिसाइल से हमला किया गया था.
तेल डिपो जलकर हुआ खाक
गौरतलब है कि उस हमले में कराची हार्बर फ्यूल स्टोरेज में आग लग गई थी, प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक लगभग 7 दिन तक वहां के ऑयल टैंकर जलते रहे थे.
कराची के तेल टैंकरों में लगी आग की लपटों को 60 किलोमीटर की दूरी से भी देखा जा सकता था.ऐसा माना जाता है कि इस हमले में पाकिस्तान पूरी तरह बिखर गया था.
इसी जीत की खुशी को मनाने के लिए भारत में हर साल 4 दिसंबर को नेवी डे मनाया जाता है.
पढ़ें – अब सांस लेने के लिए घर मंगाए पहाड़ों की शुद्ध हवा, जानें कैसे और कितने में
भारतीय नौसेना का इतिहास
ये तो आप सभी जानते होंगे भारतीय नौसेना हमारी समुद्री सीमओं पर देश की रक्षा के लिए तैनात रहती है.इसकी स्थापना 1612 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने अपे जहाजों के लिए करी थी. हालांकी उस समय इसे East India Company’s Marine के रूप में जाना जाता था.
जिसे बाद में रॉयल इंडियन नौसेना नाम दिया गया और फिर आजादी के बाद 1950 में नौसेना का फिर से गठन किया है ये भारतीय नौसेना बन गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here