चीन में चाय पर चर्चा और नौका विहार करके भारत लौटे पीएम मोदी, 2 मिनट मे समझें क्या हुआ हासिल

Pm Modi China Visit

Pm Modi China Visit : राष्ट्रपति जिनपिंग ने प्रोटोकॉल तोड़ पीएम का किया स्वागत

Pm Modi China Visit : चीन के दो दिवसीय अनौपचारिक दौरे के बाद पीएम मोदी आज यानि की शनिवार को वापस भारत लौट रहे हैं.

बता दें कि यह दौरा ना सिर्फ दोनों देशों के लिए बल्कि पूरे विश्व के लिए भी काफी महत्वपूर्ण था, क्योंकी जानकारों का ऐसा मानना है इस दौरे से दोनों देशों के बीच कई सालों से चल रही खटास के कम होने की संभावना है.
दरअसल दुनिया जानती है कि ये दोनों देश भारत और चीन विश्व के आर्थिक पटल पर तेजी से उभरती हुई एक महाशक्ति है, यही वजह है कि सारे देश भारत और चीन के इस दौरे को लेकर पहले से ही काफी सजग थे.
यह भी पढ़ें – जानिए कर्नाटक में किन वादों के साथ दोबारा सत्ता पाने का इरादा रख रही कांग्रेस
प्रोटोकॉल तोड़ पीएम का किया स्वागत
पीएम मोदी की इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने एक दूसरे के साथ पूरी गर्मजोशी से मुलाकत करी. चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पीएम मोदी के स्वागत में कई बार प्रोटोकॉल को दरकिनार किया.
पीएम के सम्मान में वहां  तू…तू है वही गोने की धुन बजाई गई, इसके अलावा खुद राष्ट्रपति के साथ पीएम की चाय पर चर्चा और करीब घंटे तक नौका विहार का कार्यक्रम चीन मे आयोजित किया गया था.
चीनी राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत और चीन विश्व शांति के लिए अहम भूमिका निभा सकते हैं, उन्होंने कहा कि दोनों देश साथ मिलकर चलने को तैयार हैं.
इस पर चिनफिंग ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि विकास और शांति के लिए दोनों देश के बीच आपसी सहयोग जरूरी है इसलिए आगे भी इस तरह की बैठकें होती रहनी चाहिए.
चीन दौरा भारत के लिए रहा काफी फायदेमंद
मोदी-जिनपिंग की मुलाकात पर MEA ने बयान जारी कर बताया कि भारत और चीन के बीच अफगानिस्तान में एक संयुक्त आर्थिक परियोजना की शरूआत करने पर सहमति बन गई है. बता दें कि यह प्रोजेक्ट चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीइसी) का तोड़ माना जा रहा है.
वहीं सीमावर्ती इलाकों में दोनों देशों के बीच शांति बनाए रखने पर भी हामी भरी गई है.साथ ही सीमा पार से होने वाले आतंकवाद को रोकने के लिए दोनों देश के बीच सकारात्मक बाततीच हुई है.
साथ ही पीपल-टू-पीपल संबंधों को मजबूत बनाने की कोशिश करने की भी बात कही गई है.
इस लिहाज से पीएम मोदी और शी चिनफिंग की मुलाकात भारत के लिए काफी फायदेमंद साबित होने वाली है.
यह भी पढ़ें  – चीन के वन बेल्ट बन रोड प्रोजेक्ट में नेपाल का शामिल होना आखिर क्यों भारत को नहीं है रास
पीएम मोदी ने दिया भारत आने का दिया न्योता
प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति से कहा कि इस अनौपचारिक समिट के जरिये दोनों देशों के बीच बेहद सकारात्मक माहौल बनाया गया और आपने (चिनफिंग) व्यक्तिगत तौर पर इसमें बड़ा और अहम योगदान दिया है.
उन्होंने कहा कि यह भारतीयों के लिए गर्व की बात है और मैं शायद भारत का पहला ऐसा प्रधानमंत्री हूं जिसकी अगवानी के लिए आप (शी चिनफिंग) दो-दो बार राजधानी से बाहर आए हैं.
पीएम मोदी ने कहा मैं भविष्य में यकीन करता हूं और हम इसी तरह आगे भी समय-समय पर मुलाकातें कर सकते हैं, साझा समझ बना सकते हैं ताकि दोनों देशों के रिश्ते अगली पायदान पर पहुंच सकें.
इन बातों के साथ ही लगे हाथ पीएम मोदी ने चिनफिंग को भारत आने का न्योता भी दे दिया.
पीएम मोदी ने चीन के दौरे पर जाकर भारत और चीन के रिश्ते का एक नया अध्याय शुरू कर दिया है, अब देखना है कि यह रिश्ता आने वाले कितने दिनों तक प्रभावशाली बनता है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus