Police Commemoration Day : आजादी के बाद से देश में अब तक 34,418 पुलिसकर्मी हुए हैं शहीद- गृहमंत्रालय

Martyrs Children Free Education
demo pic

Police Commemoration Day : एक साल में 383 पुलिसकर्मी शहीद

Police Commemoration Day : देश के अलग-एलग हिस्सों में बीते एक साल में 383 पुलिसकर्मियों ने दुश्मनों से लोहा लेते हुए अपना जीवन बलिदान कर दिया.

यह जानकारी शनिवार को पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के डायरेक्टर राजीव जैन ने दी.
इस दौरान शहीदों के श्रद्धांजलि समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी दिल्ली के पुलिस मेमोरियल ग्राउंड पर शहीदों को श्रद्धांजलि देकर उनके बलिदान को याद किया.
जैन ने बताया कि सितंबर 2016 से अगस्त 2017 के बीच हमने अपने 383 बहादुर जवानों को खोया है.
यह भी पढ़ें – Jantar Mantar Delhi: ऐतिहासिक धरना स्थल हुआ खामोश, अब नही सुनाई देगी सरकार को किसी के हक की आवाज
इन शहीदों की सूची में सबसे ज्यादा यूपी पुलिस के 76, बीएसएफ के 56, सीआरपीएफ के 49, जम्मू-कश्मीर पुलिस के 42, छत्तीसगढ़ पुलिस के 23, पश्चिम बंगाल के 16, दिल्ली पुलिस और सीआईएसएफ के 13, बिहार और कर्नाटक पुलिस के 12-12 और आईटीबीपी के 11 जवान शामिल हैं.
उन्होंने बताया कि इनमें से ज्यादातर जवानों की शहादत सीमा पर पाकिस्तान की ओर से होने वाली फायरिंग, कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड, नक्सलवाद क्षेत्रों में नक्सलियों से सामना और  लॉ एंड ऑर्डर को बनाने के लिए ड्यूटी के दौरान हुई.
गृह मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि इसी दिन 21 अक्टूबर 1959 को चीनी सैनिकों ने घात लगाकर हमारे गश्त लगा रहे  20 जवानों की टुकड़ी पर हमला बोल दिया था जिसमें हमारे 10 जवान शहीद हो गए, जबकि 7 गंभीर रूप से घायल हो गए थे.
यह भी पढ़ें India Japan Job Training: भारत की बेरोजगारी जापान के लिए बनेगी कारगार
आपको बता दें कि साल 1959 में चीन और तिब्बत से लगी 2500 मील लंबी बॉर्डर की सुरक्षा का जिम्मा पुलिस के जवानों के पास था.
इसी घटना के बाद से हर साल 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन देश के अब तक हुए विभिन्न पुलिस जवानों की शहादत को याद करने की परंपरा है .
गृहमंत्रालय के बयान में यह भी बताया गया कि आजादी के बाद से अब तक 34,418 पुलिस कर्मियों नें अपनी जान देश की अखंडता और सुरक्षा के लिए बलिदान किया है.
 For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On Facebook, Twitter, Instagram, and Google Plus