झारखंड के इस गांव में नक्सलियों की दहशत से बच्चे तीर कमान लेकर जा रहे स्कूल

Prevention From Naxalites Jharkhand Children Carry Bow
pc - ani

Prevention From Naxalites Jharkhand Children Carry Bow : स्कूल के रास्ते में पड़ने वाले जंगल में नक्सलियों का है प्रभाव

Prevention From Naxalites Jharkhand Children Carry Bow : हम ये तो अक्सर सुनते रहते हैं कि शिक्षा हासिल करने के लिए किसी भी छात्र को काफी संघर्ष करना पड़ता है.

आए दिन अखबारों टीवी में तो हम यहां तक देखते हैं कि अपने पढ़ाई के लिए फीस भरने हेतु छोटे छोटे बच्चे किसी होटल या दुकान पर काम कर रहे हैं.
लेकिन झारखंड में स्कूल में पढ़ाई पूरी करने के लिए बच्चों को जो संघर्ष सामने आया है वो आपके दिल को काफी कचोट सकता है.
दरअसल झारखंड के चाकुलिया में गांव में बच्चे नक्सलियों से बचने के लिए स्कूल में तीर – कमान लेकर जा रहे हैं.
पढ़ें शहरों का विकास तो छोड़िए जनाब, पहले नामकरण तो हो जाने दीजिए
बता दें कि ये बच्चे जहां रहते हैं उस जगह से उनका स्कूल दूर है जहां जाने के लिए इन्हें जंगल भी पार करना पड़ता है.

http://

दुख की बात है कि इस जंगल में नक्सलियों का कब्जा है जिसकी वजह से उनसे बचने के लिए वो स्कूल तीर कमान लेकर जाते हैं.
यही नहीं अपने साथ हथियार रखने के बाद भी उन्हें इस जंगल को दबे पांव ही पार करना पड़ता है.
वहां रह रहे स्थानीय लोगों ने का कि बच्चों को पढ़ाई करने के लिए नक्सल प्रभावित जंगल पार करना पड़ता है क्योंकि गांव और स्कूल के बीच ये जंगल पड़ता है.
पढ़ें – लखनऊ में तैनात होमगार्ड के बेटे ने पहले ही प्रयास में पास करी IES परीक्षा
उन्होंने बताया कि वहां पर कई ऐसा घटनाएं हो चुकी हैं ऐसे में सावधानी बरतने के लिए वो अपने पास तीर कमान रखते हैं.
गांव वालों के मुताबिक स्कूल जाने में पड़ने वाले नकस्लवादियों के रोड़े से निपटने के लिए इन बच्चों ने तीर कमान चलाना सीखा है.