प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना से 3.6 करोड़ लोगों को हुआ फायदा

Prime Ministers Employment Incentive Scheme
श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार

Prime Ministers Employment Incentive Scheme : सरकार ने इस पर लगभग 3,648 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.

Prime Ministers Employment Incentive Scheme : देश में बढ़ती बेराजगारी एक विशाल संकट बनती जा रही है, जिससे हर कोई त्रस्त है.

सरकार के प्रयास इस दिशा में कितने सार्थक है इसका सही सही आकलन करना शायद हम सबके लिए मुश्किल हो.
लेकिन हाल ही में सरकार की चल रही प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना (पीएमआरपीआई) के लाभार्थियों के आकड़े सामने आए है जिसमें पता चला है की PMRPI से करीब डेढ़ करोड श्रमिकों को फायदा पहुंचा है.

पढ़ेंयोगी सरकार के बजट में महिलाओं के लिए क्या ? जानें

इस बारे में श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने शुक्रवार को खुद जानकारी दी है.
अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ) के शताब्दी समारोह में शामिल होने आए गंगवार ने बताया की “रोजगार प्रोत्साहन योजना से करीब डेढ़ करोड़ कर्मचारियों को लाभ हुआ है और हमने अब तक इस पर लगभग 3,648 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.
यही नही उन्होंने ये भी बताया की करीब तीन करोड़ असंगठित क्षेत्र के कामगारों को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) से लाभ हो रहा है.
साथ ही सरकार ने इस बजट में रिक्शा चालकों, छोटे दुकानदार, कृषि एवं ग्रामीण श्रमिकों जैसे असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों के लिए मेगा पेंशन की भी पेशकश करी है.
बता दें की प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना बेरोजगार लोगों को नए रोजगार सृजित करने के अवसर प्रदान करती है.
पढ़ें – जानें सरकार के इस बजट में किसान,मीडिल क्लास और श्रमिकों को क्या कुछ मिला
इस योजना में भारत सरकार कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा संचालित सामाजिक सुरक्षा स्कीमों में नियोक्ताओं के अंशदान का भुगतान करती है.
समारोह में गंगवार ने ये भी कहा की नई प्रौद्योगिकी, आटोमेशन और कृत्रिम मेधा के मौजूदा परिदृश्य में नौकरियों के नुकसान की आशंका महसूस की गई है और भविष्य के कामों के लिए गठित वैश्विक आयोग ने सभी पहलुओं का अध्ययन कर और उपयोगी सिफारिश की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here