रेल अधिकारियों को मिलने वाली ये खास सेवा हुई आम, यात्रा में अब आप भी उठा सकेंगे लग्जरी लुत्फ

Railway Luxury Saloon Service
फोटो साभार -ट्वीटर

Railway Luxury Saloon Service : पुरानी दिल्ली से जम्मू के लिए बुक हुआ पहला सैलून

Railway Luxury Saloon Service : भारतीय रेल ने अपने आला अधिकारियों की यात्रा के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली सैलून सेवा को आम यात्रियों के लिए भी बुक करना शुरू कर दिया है.

बता दें कि यह पहला मौका है जब कोई आम यात्री भी रेलवे के इस सैलुन को अपनी यात्रा के लिए बुक करा सकता है.
IRCTC ने इस तरह की पहली सेवा पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से शुरू भी कर दी है. जम्मू मेल में बुक कराया गया यह पहला सैलून वैष्णो देवी कटरा के लिए परिवार द्वारा निजी यात्रा पर रवाना किया गया.
वहीं इस पूरे सैलुन को बुक करने के एवज में रेलवे ने यात्रा कर रहे परिवार से 2 लाख रुपये वसूले.
IRCTC के डिप्टी जनरल मैनेजर रतीश चंद्रन के मुताबिक रेलवे सैलून की बुकिंग की व्यवस्था आम ग्राहकों के लिए ऑनलाइन शुरू कर दी गई है.
यह भी पढ़ें – 15 साल के इस लड़के का आधुनिक ड्रोन सैनिकों की जान बचाने में बनेगा मददगार
क्यों खास होता है सैलून
गौरतलब है कि रेलवे की यह सैलुन सेवा अधिकारियों के लिए अंग्रेजो के जमाने से चली आ रही है. इस खास तरह के कोच में ड्राइंग रुम, डाइनिंग, किचन और दो बेडरूम होते हैं जबकि हर बेडरुम से अटैच्ड टॉयलेट-बाथरूम होते हैं.
यानि की यह कोच रेलवे लाइन पर एक चलता फिरता लग्जरी होटल की तरह होता है.

किन लोगों को मिलती है ये सेवा

यह सेवा रेलवे के सभी जोन के जनलर मैनेजर,रेलवे बोर्ड के अड़े अधिकरी और डिवीजनों में डीआरएम के मुफ्त भ्रमण के लिए रहती है.
इसके अलावा रेल मंत्री, रेल राज्यमंत्री और राष्ट्रपति के लिए भी यह खास सैलून बड़े रेलवे स्टेशन पर हमेशा तैयार खड़े रहते हैं.
यह भी पढें – भारतीय रेलवे की बड़ी पहल, यात्री अपना कंफर्म टिकट ट्रांसफर कर अब करा सकेंगे किसी दूसरे को यात्रा
पीयूष गोयल ने सुझाया था प्रस्ताव
बता दें कि पीयूष गोयल ने रेल मंत्री बनने के बाद यह आदेश दिया था कि जब तक जरूरी ना हो तब तक कोई भी अधिकारी सैलून का इस्तेमाल ना करे. साथ ही खाली खड़े रेलवे सैलून को आम यात्री को देने की भी पॉलिसी बनाने की बात उन्होंने कही थी.
इसी पॉलिसी के तहत आईआरसीटीसी ने देशभर में शुरुआती तौर पर 10 रेलवे सैलून को आम जनता की सेवा में खोला है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus