तिरुवनंतपुरम में अब किसी को शौचालय के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा

शौचालय
फोटा साभार- फेसबुक
केरल में ओणम त्यौहार बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है. इसी वक्त राज्य में बहुत से मेलों और बाकि तरह के रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.
लोगों की भीड़ जुटने के कारण इन दिनों सार्वजनिक जगहों पर शौचालयों की मांग भी बढ़ जाती है.
मगर हर जगह शौचालय बनाना आसान तो नहीं . और जो हैं कुछ प्रयोग के बाद ही उनकी बहुत ही बुरी हालत हो जाती है . वहीं जहां एक भी शौचालय नहीं बने रहते हैं वहां और ज्यादा दिक्कतें होती हैं.
तिरुवनंतपुरम शहर में इसी समस्या के निबटारे के लिए एक अलग तरीका निकाला गया जिसे नाम दिया गया ‘मोबाइल शौचालय’.
क्या है ‘मोबाइल शौचालय’
इस मोबाइल शौचालय में दस क्यूबिकल पॉड होते हैं, और एक गाड़ी पर बने होने की वजह से इन्हें किसी भी स्थान पर आसानी से ले जाया जा सकता है.
शहर के नगर निगम ने 37 लाख के बजट के साथ पीपुल्स योजना स्कीम के तहत ऐसे शौचालय बनाने की शुरुआत की थी.
इन शौचालयों के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि ये यूनिसेक्स हैं और ट्रांसजेंडर समुदाय को भी इन्हें इस्तेमाल करने का पूरा हक दिया गया है.
प्रत्येक मोबाइल शौचालयों में 1,200 लीटर की क्षमता का पानी का टैंक मौजूद रहता है. साथ ही इतना ही बड़ा टैंक कचरा एकत्रित करने के लिए भी होता है. जिसे बाद में एक वैक्यम पाइप की मदद से इस कचरे को निकाला जाता है.
नगर निगम के अधिकारियों ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि इस मोबाइल शौचालय को काफी जल्दी में तैयार किया गया है. ताकि ओणम खत्म होने से पहले सार्वजनिक स्थानों पर इसका प्रयोग किया जा सके.
गौरतलब है कि देश में ऐसे ही और मोबाइल शौचालय सार्वजनिक जगह पर लोगों की मुश्किलें आसान बना सकते है.
लेकिन इसके साथ ही हमें भी यह समझना होगा कि स्वछता रखने की नगर निगम की योजना तब तक पूरा नहीं हो सकती जब तक की हम खुद उसका हिस्सा नहीं बनते.