ट्रिवागो होटल के ऐड में इस लड़के पर मजाक बनाने वालें, जरा जान लें इसका बैकग्राउंड

Trivago Add Boy Abhinav Kumar

Trivago Add Boy Abhinav Kumar : बिहार के लखीसराय के रहने वाले हैं अभिनव

Trivago Add Boy Abhinav Kumar : टीवी , सोशल मीडिया पर आपने अक्सर एक पतले-दुबले आदमी को ऑनलाइन होटल रुम बुक कराने के बारे में बताते हुए देखा होगा.

अब आप सोच रहे होगें कि टीवी पर आने वाले ऐड के बारे में हम क्यों जानकारी दे रहे हैं, दरअसल यह ऐड अपने आप में बेहद खास है क्योंकी इसके लोकप्रिय होने के पीछे की वजह है इसके बारे में जानकारी देना वाला मॉडल.
बता दें कि टीवी पर दिखने वाले ट्रिवागो होटल के ऐड में आपको जिस साधारण से आदमी का चेहरा दिखता है वो कोई सिलेब्रेटी या म़़ॉडल नहीं बल्कि इसी होटल कंपनी के इंडिया हेड अभिनव कुमार हैं जो बिहार के रहने वाले हैं और फिलहाल जर्मनी में रहते हैं.
दरअसल ट्रिवागो कंपनी की विज्ञापन पॉलिसी के तहत वे किसी नामी गिरामी मॉडल की बजाय फ्रेश चेहरे को ही मौका देते आ रहे हैं .
कंपनी को भारत में अपने विज्ञापन के लिए किसी चेहरे की तलाश थी , लेकिन कंपनी को कोई मॉडल पसंद नहीं आया . फिर उसके बाद ट्रिवागो कंपनी ने अभिनव कुमार को ही इस विज्ञापन को करने के लिए कहा .
शुरू-शुरू में अभिनव थोड़ा बहुत तो हिचकिचाए लेकिन फिर बाद में वे इस चुनौती को स्वीकार करने के लिए तैयार हो गए.
यह भी पढ़ें गूगल ने भारत में लॉन्च किया जॉब सर्च फीचर, नौकरी ढूंढने वालों को मिलेगी मदद
लेकिन जब ट्रिवागो का ये विज्ञापन ऑन एयर हुआ तो लोगों ने इस विज्ञापन को हाथों हाथ लिया, लोकप्रियता ऐसी की इस विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह के जोक्स भी बनने लगे.
अपने देश में जहां अधिकांश ब्रांड का विज्ञापन बड़े-बड़े अभिनेता-क्रिकेटर या कोई सेलेब्रेटी करता है, वहां पर एक आम आदमी ने ट्रिवागो कंपनी के नाम को घर-घर तक पहुंचा दिया.
खुद को मानते हैं टिपिकल बिहारी
अभिनव कुमार मूल रूप से बिहार के लखीसराय के बड़हिया ब्लॉक के रहने वाले हैं. इन दिनों अभिनव कुमार का परिवार झारखंड के देवघर में रहता है.
अभिनव ने पुणे से पढाई-लिखाई करने के बाद इटली से एमबीए करने के बाद ट्रिवागो कंपनी को ज्वाइन किया और जर्मनी में शिफ्ट हो गए हैं.
गौरतलब है कि हम भारत वासियों में एक खास चीज जरूर रहती है जो हमें ओरों से अलग बनाती है और वो है हमारी संस्कृति से लगाव.
यह भी पढ़ें – बिहार से तिहाड़ जाने वाले कन्हैया कुमार CPI दफ्तर जाकर रूके, जानिए पूरा सफर
भारत के लोग कहीं भी जाते हैं वो अपना कल्चर कला साथ लेकर जाते हैं और उसका विस्तार करते हैं. अभिनव भी खुद के इसी से जुड़ा हुआ मानते हैं.
खास बात ये है कि इतने साल विदेश में गुजारने के बाद भी अभिनव खुद को टिपिकल बिहारी ही मानते हैं और बिहार की कला-संस्कृति औऱ धरोहर से खुद को जोड़े रखने के लिए जर्मनी में भी एक्टिव रहते हैं.
वही जर्मनी में रहने वाले आईटी प्रोफेशनल और अभिनव के अच्छे दोस्त प्रकाश शर्मा ने बताया कि हम लोगों ने जर्मनी में Bihar Fraternity Germany ग्रुप बनाया है और जर्मनी की राजधानी बर्लिन में बीएफजी 26 मई को बिहार दिवस के रूप में भव्य कार्यक्रम का आयोजन करने जा रही है.
इसके अलावा आने वाले दिनों में Bihar Fraternity Germany के सदस्य बिहार की बेहतरी के लिए भी अपनी तरफ से कुछ करने की योजना बना रहे हैं.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus