Uttarakhand DGP Chalan : सिग्नल तोड़ने पर उत्तराखंड पुलिस ने रोका डीजीपी का वाहन, फिर क्या हुआ ये जानिए

Uttarakhand DGP Chalan
उत्तराखंड डीजीपी

Uttarakhand DGP Chalan : सीपीयू पुलिस ने डीजीपी का रोका वाहन

 Uttarakhand DGP Chalan : उत्तराखंड पुलिस की यूं ही सराहना नहीं की जाती. अभी हाल ही में कुछ दिनों पहले उत्तराखंड पुलिस के जवानों ने 4000 फीट ऊंचाई पर केदारघाटी में पहाड़ी किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए आलू की खेती करके एक नया इतिहास रचा था.

वहीं इस बार मौका और भी खास है. क्योंकि इस बार के नेक काम में यूके पुलिस के डीजीपी भी शामिल थे.
सीपीयू पुलिस ने डीजीपी का रोका वाहन
हुआ यूं कि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सिटी पेट्रोलिंग यूनिट(सीपीयू) पुलिस हमेशा की तरह गश्त पर थी. तभी दिलाराम चौक के पास लगी रेड लाइट पर पीछे से आ रही डीजीपी की कार ने रेड सिगनल तोड़ते हुए जेबरा क्रॉसिंग पार कर दी .
इतने में वहां मौजूद सीपीयू पुलिस के जवान कार को रोक देते हैं, और फिर यूनिट सब इंस्पेक्टर अशोक डंगवाल गाड़ी का चालान बनाना शुरू कर देते हैं, जबकि दूसरा जवान घटना का वीडियो बनाता है.
यह देखकार डीजीपी अनिल रतूड़ी वाहन से उतरते हैं और पुलिस कर्मियों का नाम पूछने लगते हैं.
यह सुनकर पुलिसकर्मियों को थोड़ा डर जरूर लगता है, मगर वह वीडियो बनाना नहीं छोड़ते , और आम आदमी के साथ बरते जानी वाली प्रक्रिया को डीजीपी के साथ भी ईमानदारी से लागू करके रखते हैं.
यह भी पढ़ें Police Potato Farming : 11 हजार फीट पर आलू की खेती कर उत्तराखंड पुलिस ने रचा कीर्तिमान
डीजीपी ने खुशी से कटवाया चालान, और सीपीयू के जवानों को दी शाबाशी
इसके बाद सीपीयू पुलिस के जवान अपना नाम बताते हैं, और फिर डीजीपी अनिल रतूड़ी उनकी जांबाजी की तारीफ करते हैं, और उन्हें ऐसी निडरता के साथ अपनी ड्यूटी करने के लिए प्रेरित करते हैं.
इसके बाद डीजीपी रतूड़ी पुलिसकर्मियों द्वारा काटे गए 100 रूपये के चालान का भुगतान करके वहां से चले जाते हैं.
सीपीयू जवानों के हौसलें और डीजीपी की ईमानदारी की हो रही तारीफ
उत्तराखंड की मीडिया और सोशल मीडिया में ये मामला बीते दिनों से खासा चर्चे में है. हर कोई पुलिस के जवानों की तो तारीफ कर ही रहा है, साथ ही प्रदेश पुलिस के मुखिया डीजीपी अनिल रतूड़ी के साधारण व्यवहार की भी जमकर सराहना कर रहा .
यह भी पढ़ेंInclov Mobile App : दिव्यांगों के लिए बने इस खास डेटिंग ऐप से जीवनसाथी तलाशने में मिल रही मदद
क्या है सीपीयू पुलिस
उत्तराखंड की राजधानी देहरादून समेत राज्य के बड़े नगरों में पुलिस की सीपीयू यूनिट गश्त करती है. इसमें एवेंजर बाइक में पुलिस के दो जवान शहर में पेट्रोलिंग करते रहते हैं. इनकी बाइक में हथियार, फर्स्ट-एड बॉक्स समेत अन्य सुविधाएं मौजूद रहती हैं.
इस यूनिट के जवान शहर में किसी भी स्थान में यातायात नियम का उल्लंघन करने पर वाहन चालक का मौके पर ही चालान कर देते हैं.
इनमें एक पुलिस का जवान तुरंत हैंडीकैम कैमरे से वीडियो बनाना शुरू कर देता है और दूसरा जवान चालान बनाता है.
इस यूनिट के जवानों की खास बात ये है कि अगर कोई इनकी नजरों में आ जाता है, तो फिर नेताओं या अधिकारियों की भी पहुंच काम नहीं आती. क्योंकि सबकुछ कैमरे की निगाह में होता है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus