Women In Indian Navy : भारतीय नौसेना को मिली पहली महिला पायलट, तीन अन्य भी बनी अधिकारी

Recruitment Of Women Sailors In Indian Navy
file photo(demo pic)

Women In Indian Navy : आस्था  रूपा और शक्तिमाया भी बनीं अधिकारी

Women In Indian Navy : भारतीय नौसैनिक अकादमी एझीमाला (केरल) में बुधवार को हुई पासिंग आउट परेड के बाद एक नया इतिहास लिखा गया .

केरल के कन्नूर में बुधवार को हुई इंडियन नेवल अकैडमी की पासिंग आउट परेड के बाद शुभांगी स्वरूप नेवी की पहली स्थाई महिला पायलट बन गई हैं.
नौसेना में महिलाओं की बढ़ी भूमिका
बरेली (उत्तर प्रदेश) की रहने वाली शुभांगी के पिता ज्ञान स्वरूप भी नौसेना में एक अधिकारी के पद पर हैं. शुभांगी के साथ आस्था सहगल, रूपा ए. और शक्तिमाया एस. को भी नौसेना के आर्मामेंट इंस्पेक्शन ब्रांच में पहली बार शामिल किया गया है.
यह भी पढ़ें – Vaccination Reminder App : इस लड़की के ऐप की मदद से मां-बाप लगवा सकेंगे बच्चों को सही समय पर टीका
इससे पहले भारतीय एयरफोर्स में तीन महिला फाइटर पायलट शामिल हो चुकी हैं वहीं तीन और महिलाएं इस रोल में आने के लिए तैयार हैं.
नेवी के प्रथम महिला पायलट बनने के बाद शुभांगी ने कहा कि यह सिर्फ एक रोमांचक अवसर नहीं बल्कि एक बड़ी ज़िम्मेदारी भी है.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूपी के बरेली की रहने वाली शुभांगी स्वरूप को पी-8 आई प्लेन उड़ाने का मौका मिलेगा. हालांकि, इसके लिए उन्हें पहले ट्रेनिंग दी जाएगी.
women in indian navy
फोटो साभार – एनबीटी
महिलाओ के लिए नई राह
आर्मामेंट इंस्पेक्शन ब्रांच की आस्था सहगल ने कहा कि नेवी के इतिहास में यह भी पहली बार होगा जब किसी महिला को नेवल अर्मामेंट इंसपेक्सन ब्रांच में अधिकारी के तौर पर शामिल किया गया है.
यह भी पढ़ें – Asia’s Cleanest Village : जानिए कैसे , भारत का ये गांव 14 साल से है एशिया का सबसे स्वच्छ गांव
उन्होंने कहा कि इस बदलाव के बाद भारतीय महिलाओं को देश की सेना में आने के लिए एक नई प्रेरणा मिलेगी.
महिलाओं को मिल रही जिम्मेदारियों के बाद चीफ ऑफ नेवल स्टाफ एडमिरल सुनील लांबा ने कहा कि वैसे तो इंडियन नेवी में महिलाओं को एंट्री 1991 में ही मिल गई थी. लेकिन शुभांगी, आस्था सहित नई लड़कियों की इस पहल के बाद महिलाएं तेजी से शामिल होंगी.
कार्यक्रम में एडमिरल ने 9 बेहतरीन मिडशिपमेन और कैडेट को मेडल भी दिया गया.