मोदी सरकार को उपचुनाव में मिली हार को भुलाने के लिए वर्ल्ड बैंक की ये रिपोर्ट कर सकती है मदद

World Bank Make India Upper Middle Income Country

World Bank India GDP : इन कामों में तेजी लाने से बढ़ सकती है जीडीपी – वर्ल्ड बैंक

World Bank India GDP : यूपी और बिहार के उपचुनाव में करारी हार को भुलाने के लिए मोदी सरकार के लिए वर्ल्ड बैंक की तरफ से राहत बरी खबर आई है.

दरअसल वर्ल्ड बैंक ने भारत के सकल घरेलु उत्पाद (जीडीपी) पर तैयार अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था वित्त वर्ष 2019-20 तक वापस 7.5 फीसदी की दर हासिल कर सकती है.
बता दें कि मौजूदा वित्त वर्ष 2017-18 में भारत की जीडीपी 6.5 रहने का अनुमान है .
जीडीपी में वृद्धी के लिए करने होंगे ये काम
देश में होने वाले आर्थिक विकास को लेकर वर्ल्ड बैंक की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत को 8 फीसदी की विकास दर हासिल करने के लिए साख, निवेश और निर्यात क्षेत्र में तेजी से सुधार लाना होगा.
यह भी पढ़ें – भारतीय कृषि क्षेत्र में 2020 से जलवायु परिवर्तन का नकारात्मक प्रभाव शुरू- रिपोर्ट
थोक वस्तुओं के दामों में आई गिरावट
बुधवार को खाद्य वस्तुओं और सब्जियों की कीमत में आई गिरावट से थोक मुद्रास्फीति फरवरी महीने में 2.48 प्रतिशत के निचले स्तर पहुंच गई.
गौरतलब है कि इससे पहले यह इतना निम्नस्तर पिछले साल के जुलाई महीने में दर्ज की गई थी.
वहीं फरवरी में दाल- दलहनों के दाम भी पिछले साल की तुलना में 24.51 प्रतिशत नीचे चल रहे थे इसके अलावा मोटे अनाज और गेहूं के दामों में भी इस महीने नरमी देखने को मिली.
आकड़ों के मुताबिक अंडे, मांस और मछली की थोक कीमतों में गिरावट के साथ ईंधन और बिजली वर्ग में भी फरवरी में मुद्रास्फीति नरम होकर 3.81 प्रतिशत रही.