2019 Lok Sabha Election : इस बार इन नए तरीकों के साथ उतर रहा है चुनाव आयोग, जानें

2019 Lok Sabha Election

2019 Lok Sabha Election : 11 अप्रैल को होगा पहले चरण का चुनाव 23 को आएगा नतीजा

2019 Lok Sabha Election : लोकसभा 2019 के चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चुका है , आचार संहित भी देशभर के अंदर लागू की जा चुकी है.

ऐसे में आम जनता के अंदर इस बात को लेकर जिज्ञासा ज्यादा है की तकनीक के बढ़ते दौर में चुनाव आयोग कितनी तौयारी के साथ इस महाकुंभ में उतर रहा है.
बता दें की रविवार को चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था की इस बार आयोग पारदर्शिता बढ़ाने और शिकायतों के त्वरित समाधान के लिए नए कदम उठाने जा रहा हैं, जिसे मतदाताओं को भी राहत मिलने की उम्मीद है.
आइए फिर जानते हैं कौन से वो नए कदम है जो इस बार चुनाव आयोग के द्वारा पहली बार उठाए जा रहे हैं.

पढ़ें – जानिए किस तारीख को कौन से चरण में कहां होगें चुनाव

कैंडिडेट्स की फोटो और वीवीपैट

पहली बार चुनाव आयोग ईवीएम मशीनों पर प्रत्याशियों की फोटो लगाने जा रहा है.
इसके साथ ही इस बार के लोकसभा चुनावों में पहली बार सभी बूथों पर वीवीपैट ईवीएम मशीन लगाई जाएगी.
जीपीएस ट्रैकिंग व कैमरा
इस बार EVM में जीपीएस ट्रैकिंग भी लगाई जाएगी. इसके साथ ही पोलिंग ऑफिसर की गाड़ी में भी जीपीएस लगेगा.
साथ ही पूरी चुनावी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी होगी और आयोग के कमरे में 24 घंटे शिकायत भी की जा सकेगी.
हेल्पलाइन नंबर व मोबाइल ऐप
इस बार चुनाव आयोग ने मतदाताओं की किसी भी तरह की शिकायतों के निवारण के लिए एक हेल्पालइन नंबर जारी किया है.
इसके अलावा ऐप भी लांच किया है जहां जाकर मतदाता अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
खास बात यह है की आयोग ने दावा किया है की इन शिकायतों का निवारण 100 घंटे के भीतर किया जाएगा.
पढ़ें – जानिए क्या होती है ‘आचार संहिता’ और क्यों इसे हर चुनाव से पहले लागू किया जाता है
सोशल मीडिया पर रहेगी नजर
मुख्य चुनाव आयुक्त के मुताबिक सोशल मीडिया पर होने वाली कैंडिडेट्स की पोस्टों पर भी आचार संहिता लागू रहेगी.
यही नहीं चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को अपने सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी भी आयोग को देनी होगी.