हम क्यों मनाते हैं मकर संक्रांति? जानिए इस त्योहार का शुभ मुहूर्त और महत्व

Makar Sankranti 2019

Makar Sankranti 2019 : कैसे करें मकर सक्रांति की पूजा? जानिए पूरी पूजन विधि

Makar Sankranti 2019 : देशभर में मकर सक्रांति का त्योहार 15 जनवरी को मनाया जाएगा, हालाँकि इससे पहले लोगों में काफी संशय था कि इस बार मकर सक्रांति 14 जनवरी को है या 15 जनवरी को?

मकर सक्रांति हिन्दुओं के लिए कई मायनों में ख़ास है, इनमें से एक वजह ये भी है कि मकर संक्रांति वाले दिन से खरमास हट जाता है और लोग शुभ कार्यों की शुरुआत कर सकते हैं.
इस बार तो प्रयागराज में होने वाले कुंभ महोत्सव की भी शुरुआत मकर सक्रांति से ही हो रही है.इसी दिन कुंभ मेले में भक्त त्रिवेणी संगम में स्नान करते हैं.
कई राज्यों में कई नाम
जहाँ एक तरफ दक्षिण भारत में मकर संक्रांति के त्योहार को पोंगल के नाम से मनाया जाता है वहीँ गुजरात और राजस्थान में इसे उत्तरायण कहा जाता है.
हरियाण और पंजाब में मकर संक्रांति को माघी के नाम से लोग जानते और मनाते हैं, तो वहीं यूपी बिहार में ये खिचड़ी के नाम से जाना जाता है.
पढ़ेंयह है भारत का सबसे अमीर गांव, रईसी और शानो-शौकत उड़ा देगी होश
इस त्योहार के नाम बेशक अलग-अलग हों लेकिन इसे मानाने का उत्साह हर जगह एक सामान ही होता है. गुजरात में मकर सक्रांति के दिन बड़े पैयमाने पर पतंग कम्पटीशन भी रखा जाता है.
Makar Sankranti 2019
कैसे करें मकर सक्रांति की पूजा? जानिए पूजन विधि:
मकर सक्रांति के दिन लोग सुबह-सुबह ही पावन नदियों में स्नान करते हैं. जो लोग नदी में नहीं नहा सकते वो इस दिन अपने घर पर ही पानी में गंगाजल मिलकार नहाते हैं और फिर भगवान् की पूजा करते हैं.
इसके अलावा मकर सक्रांति के दिन लोग अपने पितरों का भी ध्यान करते हैं और उन्हें तर्पण दिया जाता है.
जानिए इस साल मकर सक्रांति का शुभ महूर्त:

पुण्य काल मुहूर्त – 07:14 से 12:36 तक
महापुण्य काल मुहूर्त – 07:14 से 09:01 तक

क्या है मकर सक्रांति का महत्व ?
ऐसी मान्यता है कि मकर संक्रांति पर सूर्य की राशि में हुए परिवर्तन को अंधकार से प्रकाश की ओर अग्रसर होना माना जाता है.
प्रकाश ज्यादा होने से प्राणियों की चेतनता और उनके काम करने की शक्ति में वृद्धि होगी. ऐसा जानकर सम्पूर्ण भारतवर्ष में लोगों द्वारा विविध रूपों में सूर्यदेव की उपासना, आराधना एवं पूजन कर उनके प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट की जाती है.
Makar Sankranti 2019
मकर सक्रांति पर जरुर कीजिये इन मंत्रो का उच्चारण:
मकर संक्रांति पर अगर आप गायत्री मंत्र पढ़ते हैं तो इसके साथ ही साथ आप नीचे दिए गये मंत्रो का उच्चारण करके भी भगवान सूर्य की पूजा कर सकते हैं.

ऊं सूर्याय नम: ऊं आदित्याय नम: ऊं सप्तार्चिषे नम: ऋड्मण्डलाय नम: , ऊं सवित्रे नम: , ऊं वरुणाय नम: , ऊं सप्तसप्त्ये नम: , ऊं मार्तण्डाय नम: , ऊं विष्णवे नम:

पढ़ें – जानें वो पौराणिक महत्व जिस वजह से हम सबको जरूर जाना चाहिए कुंभ
मकर सक्रांति के दिन अवश्य करें ये काम 
मकर सक्रांति के दिन दान-पुण्य का काफी महत्व माना जाता है. ऐसे में इस दिन आप नहाकर पूजा करने के बाद अपनी इच्छा से ब्राह्मणों, गरीबों को दान करें.
इस दिन दान में आटा, दाल, चावल, खिचड़ी और तिल के लड्डू विशेष रूप से लोगों को दिए जाते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here