दुनियाभर में हर 24 सेकेंड में एक व्यक्ति सड़क हादसे में गंवा रहा अपनी जान – WHO

New Year Celebration
demo pic

WHO Road Accident Report 2018 : बीते 3 सालों में ऐसे हादसों से मरने वाले लोगों की संख्या में 1 लाख का इजाफा हुआ है.

WHO Road Accident Report 2018 : सड़क दुर्घटना सिर्फ भारत ही नीं बल्कि दुनियाभर में इंसानों की जान लेने का सबसे बड़ा कारक बन गई है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपनी एक ताजा रिपोर्ट में कहा है कि पूरी दनिया में हर 24 सेकेंड के अंदर एक व्यक्ति अपनी जान गंवा रहा है.
अगर इसके सालाना औसत निकाले तो विश्व में हर साल 13.50 लाख लोग विभिन्न सड़क हादसे में मौत का शिकार हो रहे हैं.
WHO ने बताया कि बीते 3 सालों में ऐसे हादसों से मरने वाले लोगों की संख्या में लगभग 1 लाख का इजाफा हुआ है.
पढ़ें Bikers Safety : पूर्णिमा की रात में सड़कों पर सावधानी से चलाएं बाइक, रिसर्च में पता चली ये बात
गौरतलब है कि साल 2013 के आंकड़ों के आधार पर बनी पिछली रिपोर्ट में यह आंकड़ा 12 लाख 50 हजार का था.
संगठन के मतुबाकि इसमें सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि 5 से 29 साल की उम्र वाले लोग सबसे ज्यादा इसके शिकार हो रहे हैं.
यानि की जिन लोगों ने अपने जीवन की शुरूआत ही ठीक से नहीं करी है उन्हें इस तरह से मौत मिल रही है जो की हर देश के लिए काफी तकलीफदेह है.
संगठन के प्रमुख ट्रेडोस अधानोम ने एक बयान में कहा, “ये मौतें आवागमन के लिए चुकाए गए अस्वीकृत मूल्य वाली है.
वहीं शुक्रवार को इन आंकड़ों पर चिंता जताते हुए संगठन के अन्य लोगों ने कहा कि इसे रोकने के लिए विश्व के देशों को इस दिशा में सार्थक कार्रवाई करनी चाहिए.
हालांकी इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि मौतों की संख्या में इजाफा होने के बाद भी लोगों और कारों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मृत्युदर हाल के वर्षों में स्थिर बनी हुई है.
यानि की कुछ मध्यम और उच्च आय वाले देशों में सड़क सुरक्षा संबंधी प्रयास सफल हो रहे हैं.लेकिन दूसरी तरफ कम आय वाले देशों में इस तरह की दुर्घटनाओं से अपने नागरिकों को बचाने के लिए वहां की सरकारों ने कोई ठोस कदम नहीं किए है.
पढ़ेंसड़कों के गड्ढों को भरने के लिए स्कूली बच्चों ने बनाई खास मशीन
अकेल भारत में क्या है आकड़े
2016 मे एकत्र किए आकड़ों के मुताबिकहर 100 सड़क दुर्घटनाओं में 31 लोगों की मौत हुई. जबकि साल 2015 में ये आकड़ा 29.1 था.
साल 2016 में हुए सड़क दुर्घटना के मामले में उत्तर प्रदेश का पहला स्थान रहा था वहां 3818 लोगों ने विभिन्न जिलों के सड़क हादसों में अपनी जान गंवाई है. वहीं दूसरे नम्बर पर तमिलनाडु 1946 और तीसरे पर महाराष्ट्र 10135 है.
यहां आपके लिए जानना जरूरी है कि ये आकड़े आज से दो साल पहले के हैं यानि की वर्तमान समय में इसका बढने या कम होने के बराबर चांसेस हैं.