ट्रंप, पुतिन और शी जिनपिंग को पछाड़ दुनिया के सबसे ताकतवर हस्ती बने PM मोदी

World's Most Powerful Person 2019

World’s Most Powerful Person 2019 : पीएम मोदी को साल 2019 का दुनिया का सबसे ताकतवर इंसान चुना है

World’s Most Powerful Person 2019 : लोकसभा चुनावों में मिली शानदार जीत को देखते हुए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ताकत का लोहा अब देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया भी मानने लगी है.

जी हां आज अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर विदेश की धरती से हमारे प्रधानमंत्री के लिए एक अच्छी खबर आई है.
दरअसल इंग्लैड की मुख्य पत्रिका ब्रिटिश हेराल्ड के एक पोल में रीडर्स ने पीएम मोदी को साल 2019 का दुनिया का सबसे ताकतवर इंसान चुना है.
बता दें कि इस पोल में दुनिया भर के 25 से ज्यादा हस्तियों को शामिल किया गया था जिसमें व्लादिमीर पुतिन, डोनाल्ड ट्रंप और शी जिनपिंग जैसे बड़े नेताओं का भी नाम था.


कैसे हुई वोटिंग
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटिश हेराल्ड के रीडर्स को अनिवार्य वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) प्रोसेस के जरिए वोट करना था.
इसका मकसद था कि कोई भी व्यक्ति एक से ज्यादा बार किसी भी नेता के लिए वोट नहीं कर सके.
हैरानी की सबसे बड़ी बात यह है कि अपने पसंदीदा हस्ति को दुनिया का सबसे ताकतवर शख्स बनाने के लिए लोगों ने इतनी बड़ी मात्रा में वोट किया कि इस दौरान साइट ही क्रैश हो गई.
पढ़ें‘नमो 2.0’ कैबिनेट में किसे मिला कौन सा मंत्रालय, देखें पूरी लिस्ट
किसे मिले कितने वोट
बता दें कि इस वोटिंग में सबसे ज्यादा वोट हमारे पीएम नरेंद्र मोदी को मिले उन्हें सभी वोटों का कुल 30.9 प्रतिशत वोट मिले हैं.
इस पोल में मोदी के बाद दूसरे सबसे ताकतवर शख्स रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन रहे, जिन्हें 29.9 प्रतिशत वोट मिला.
वहीं इन दोनों के बाद तीसरे नंबर पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रहे जिन्हें 21.9 प्रतिशत लोगों ने सबसे ताकतवर हस्ति माना.
इसके बाद चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का नंबर आया, जिन्हें 18.1 प्रतिशत लोगों ने वोट मिला.
गौरतलब है कि जुलाई के ब्रिटिश हेराल्ड मैगजीन संस्करण के कवर पेज पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर प्रकाशित की जाएगी जो 15 जुलाई से बाजार में आ जाएगा.
ब्रिटिश हेराल्ड की वेबसाइट पर छपे आर्टिकल के मुताबिक हालिया महीनों में पीएम मोदी को भारतीयों की ओर से बेहद ज्यादा अप्रूवल रेटिंग्स मिली हैं.
हालांकी जानकारी के लिए बता दें कि ये पीएम मोदी के लिए कोई पहली उपलब्धि नहीं है इससे पहले भी उन्हें इस तरह के पोल में चुना जा चुका है.