13000 गरीब बच्चों को दिखाई गई अक्षय कुमार की टॉयलेट- एक प्रेम कथा

फोटो साभार-गूगल
फोटो साभार-गूगल
अभिनेता अक्षय कुमार की हाल में रिलीज़ हुई फिल्म टॉयलेट- एक प्रेम कथा की कहानी को गरीब बच्चों में दिखाने के लिए कोलकाता के विभिन्न मल्टीप्लेक्स में स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गई. इस फिल्म को लगभग 13000 आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को दिखाया गया.
इस फिल्म की खास स्क्रीनिंग ऑनलाइन एंटरटेनमंट टिकटिंग प्लेटफार्म बुक माई शो के चैरिटी संस्था बुक ए स्माइल और राउंड टेबल इंडिया एनजीओ ने एक साथ मिलकर कराई थी.
स्वच्छता का संदेश देने वाली ये फिल्म 12 अगस्त को रिलीज़ हुई थी.
अक्षय कुमार, भूमि पेडनेकर और सना खान द्वारा अभिनीत ये फिल्म एक ऐसी महिला की कहानी है जो अपने पति को शादी के पहले ही दिन छोड़ कर चली जाती है. क्योंकि उसे यह पता चल जाता है कि उसके ससुराल में शौचालय नहीं है.
इस फिल्म में अक्षय कुमार पत्नी को दुबारा पाने के लिए घर में शौचालय बनवाने को लेकर समाज की पुरानी परंपराओं और सरकारी तंत्र से लड़ते हुए दिखाई देते हैं.
राउंड टेबल इंडिया के अध्यक्ष क्रिस्टोफर अरविंद ने कहा कि स्क्रीनिंग बहुत सफल रही. उन्होंने कहा कि हमारे इस आयोजन से देश में स्वच्छता के मुद्दों पर बच्चों के बीच जागरूकता पैदा कराने में  मदद मिली है.
क्रिस्टोफर ने कहा कि हम ऐसे ही और कई प्रोग्राम से जुड़ने की कोशिश कर रहें है जो हमारे समाज में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने की पहल करेंगे.
वहीं बुक ए स्माइल की अध्यक्ष फर्जाना बालापांडे ने कहा कि फिल्म की स्क्रीनिंग बहुत अच्छे समय पर कराई गई थी. जिसकी वजह से इन बच्चों ने फिल्म का काफी आनंद लिया.
फर्जाना ने आशा करते हुए कहा कि हमारे संयुक्त प्रयासों के माध्यम से हम इन बच्चों के अंदर स्वच्छता के प्रति स्थाई रूप से एक सकारात्मक प्रभाव लाने में कामयाब हुए है.