“पर्सनल रीजन ” से अलग भी आप के वफादार आशुतोष के इस्तीफे का हो सकता है कारण, जानें

AAP Leader Ashutosh Resign

AAP Leader Ashutosh Resign :  आप पार्टी का आपसी कलह से उबरना मानो टेढ़ी खीर हो गई है.

AAP Leader Ashutosh Resign : आम आदमी पार्टी भले ही दूसरे विपक्षी दलों से जीतकर दिल्ली की सत्ता जीत ली है, लेकिन अपने अंदर की आपसी कलह से उबरना उसके लिए मानो टेढ़ी खीर हो गई है.

पार्टी को बनाने वालो में से प्रशांत भूषण ,योगेंद्र कुमार, शाज़िया इल्मी, कपिल मिश्रा और अब आम आदमी पार्टी के बेहद ही वफादार नेता आशुतोष ने भी पार्टी से इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया है.

http://

पढ़ें – “निशानचूक माफ लेकिन नहीं माफ नीचू निशान”, क्या है पीएम मोदी की इस कहावत का मतलब
 इस कारण दिया इस्तीफ़ा 
 आशुतोष ने अपने इस्तीफे की बात को लेकर ज़्यादा कुछ तो नहीं कहा लेकिन इस्तीफे का कारण “पर्सनल रीज़न” ज़रूर बताया है.
हालांकि मीडिया सूत्रों के अनुसार आशुतोष ने यह इस्तीफा इसलिए दिया है क्योंकि उनका नाम आप की तरफ से राजयसभा भेजे गए सदस्यों में नहीं था, इस मुद्दे पर वो पहले ही नाराज़गी ज़ाहिर कर चुके हैं.
उनके इस फैसले से पार्टी में हर कोई दुखी है क्योंकि आशुतोष उन नेताओं में से हैं जिन्होंने पार्टी का साथ 49 दिन की सरकार से लेकर दोबारा केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनने तक हर वक़्त दिया.

AAP Leader Ashutosh Resign

पत्रकार थे पहले आशुतोष 
बता दें कि आम आदमी पार्टी के सीनियर लीडर आशुतोष पत्रकारिता को छोड़कर राजनीति में आये थे.
अपने इस्तीफे की बात को ट्वीटर पर साझा करते हुए उन्होंने लिखा कि “सभी सफ़र का अंत होता है. आम आदमी पार्टी के साथ मेरे सुंदर/क्रांतिकारी रिश्ता ख़त्म हो गया है. मैं अपना इस्तीफ़ा दे चुका हूँ और इसके स्वीकृत करे जाने का अनुरोध करता हूँ, यह पूरी तरह से व्यक्तिगत कारणों से है. पार्टी और अन्य सभी लोगों का जिन्होंने मेरा साथ दिया उनका धन्यवाद. धन्यवाद.”
पढ़ें राष्ट्रपति ने 131 शौर्य पुरस्कार देने की करी स्वीकृति, मेजर आदित्य और औरंगजैब का नाम शामिल
 पहले चुनाव में मिली थी हार 
आशुतोष ने साल 2014 में आम आदमी पार्टी को ज्वाइन किया था, वो उसी वर्ष चांदनी चौक से लोकसभा चुनाव लड़े थे लेकिन उसमें उन्हें हार मिली थी.
पार्टी ज्वाइन करने के बाद से ही आशुतोष सीएम अरविन्द केजरीवाल के करीबी रहे हैं और अपनी पार्टी के हर सुख दुख में एक वफादार सेवक के तौर पर काम किया है.

इस्तीफ़ा को लेकर अरविन्द केजरीवाल ने क्या कहा ? 
आशुतोष के इस्तीफे  को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा की इस जन्म में तो तुम्हारा इस्तीफ़ा स्वीकार होने से रहा, हम सब आपसे बेहद प्यार करते हैं. सीएम केजरीवाल ने इसके साथ उनकी एक तस्वीर भी साझा की है.
कपिल मिश्रा  और कुमार विश्वाश का कटाक्ष
पार्टी से निकाले गए कपिल मिश्रा ने जहां आशुतोष को आज़ादी की मुबारकबाद देते हुए आम आदमी पार्टी पर तंज कसा वहीं, कुमार विश्वास ने आशुतोष के इस्तीफे को “आत्मसमर्पित-क़ुरबानी” का नाम दिया।
फिलहाल,  देखना दिलचस्प होगा आखिर अब आशुतोष क्या करेंगे और कैसे केजीरवाल अपनी इस टूटती आम आदमी पार्टी को संभालेंगे !!