अमेरिका में भारतीय स्टूडेंट्स को क्यों किया जा रहा गिरफ्तार,जानें

Indian Students Arrested In America

Indian Students Arrested In America : पे एंड स्टे विश्वविद्यालय वीजा घोटाले में हुई गिरफ्तारी

Indian Students Arrested In America : इधर भारत में मोदी सरकार नौकरी देने मे असमर्थ दिख रही है तो उधर अब अमेरिका में भारतीय स्टूडेंट्स के साथ कुछ ऐसा हो रहा जिसने सबको हैरान कर दिया है.

गिरफ्तार हो रहे हैं भारतीय छात्र
दरअसल, इमीग्रेशन नियमों के पालन न करने के कारणों के चलते करीब 600 भारतीय स्टूडेंट्स को हिरासत में लिया गया है.
ATA के अनुसार यूएस इमिग्रेशन ऐंड कस्टम्स इनफोर्समेंट एजेंसी के द्वारा की गई छापेमारी के दौरान भारतीयों को हिरासत में लिया गया.
पढ़ें रेलवे और शिक्षा क्षेत्र को बजट में क्या और कितना मिला,जानें
फेसबुक पोस्ट से सामने आई बात
बता दें कुछ समय पहले ATA ने एक फेसबुक पोस्ट में जिक्र किया कि होमलैंड सिक्यॉरिटी डिपार्टमेंट, यूएस इमिग्रेशन ऐंड कस्टम्स ने देशभर में विदेशी छात्रों पर ऐक्शन के दौरान बड़ी संख्या में तेलुगु छात्रों को गिरफ्तार किया है.
असोसिएशन ने यह भी कहा कि अमेरिकी एजेंसियों की कार्रवाई उन विदेशी छात्रों को टारगेट करके की गई, जो बिना अनुमति देश में रह रहे थे.
अमेरिकी डिपार्टमेंट ने क्या कहा ?
इस मामले को लेकर होमलैंड सिक्यॉरिटी डिपार्टमेंट ने कहा है कि उसने अवैध तरीके से रह रहे विदेशी स्टूडेंट्स को टारगेट करने के लिए फर्मिंग्टन हिल्स (मिशिगन) में एक फर्जी विश्वविद्यालय खड़ा किया था.
ATA ने उठाये ज़रूरी कदम
30 जनवरी 2019 को सुबह से ATA की कानूनी टीम और स्थानीय ATA टीमों ने कई विश्वविद्यालयों में जाकर भारतीय छात्र संघों से मुलाकात की है. आगे के ऐक्शन के लिए वे स्टूडेंट्स और प्रभावित पक्षों को गाइडेंस मुहैया करा रहे हैं.
मिली जानकारी के अनुसार ATA पदाधिकारियों की टीमें कई शहरों में अपनी तरफ से उपाय तलाशने में जुट गई हैं.
विश्वविद्यालय घोटाले में हुई गिरफ्तारी
अभी ताजा अपडेट के मुताबिक अमेरिका में बने रहने के लिए एक फर्जी विश्वविद्यालय में दाखिला लेने वाले 130 विदेशी छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया है जिसमें 129 भारतीय हैं.
बता दें की इन लोगों को ‘‘पे एंड स्टे’’ विश्वविद्यालय वीजा घोटाले में अमेरिकी अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार किया गया है.
हालांकी इन छात्रों की मदद के लिए अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास ने 24/7 हॉटलाइन सेवा शुरू की है.
अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि भारतीय दूतावास के दो वरिष्ठ अधिकारी दो नंबरों 202-322-1190 और 202-340-2590 पर चौबीस घंटे उपलब्ध रहेंगे.
कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिकी एजेंसी द्वारा इनकी काउंसलिंग कर इन्हें वापस भारत भेजा जा सकता है.
पढ़ें – जानें सरकार के इस बजट में किसान,मीडिल क्लास और श्रमिकों को क्या कुछ मिला
इधर भारत में जॉब की हुई भारी किल्लत
उधर अमेरिका मे यह मामला चल ही रहा था कि इधर भारत में लीक हुई बेरोजगारी की रिपोर्ट ने युवाओं को और हताश कर दिया है.
रिपोर्ट के अनुसार 2017-18 में बेराजगारी स्तर 6.1 था जो की अभी तक का सबसे हाईएस्ट है.
इस डेटा के सामने आने के बाद जहां कांग्रेस बीजपी पे निशाना साध रही उधर नीति आयोग के चेयर मैन ने साफ किया है कि उन्होंने कोई डेटा रिलीज़ ही नहीं किया है अभी डेटा प्रोसेसिंग में है.
सोशल मीडिया पर जहां बीजेपी के नेता #hows the josh का नारा लगा रहे हैं वहीं कांग्रेस #howsthejob टैग से बीजेपी पर लगातार निशाना साध रही है.
ये आने वाला समय बताएगा कि क्या होता है क्योंकि इन्हीं सबके चलते 2019 के चुनाव पर भारी असर पड़ सकता है.