क्या वाकई में मर गया आतंक का आका मसूद अजहर? जानिए पूरा सच

JEM Chief Masood Azhar

JEM Chief Masood Azhar : इसे ठिकाने लगाने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह से कमर कस चुकी है.

JEM Chief Masood Azhar : ये बात तो सभी जानते हैं कि अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवादी संगठन अलकायदा के संस्‍थापक रहे ओसामा बिन लादेन और जैश-ए-मोहम्‍मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर काफी अच्छे दोस्त हुआ करते थे.

जहाँ ओसामा बिन लादेन को अमेरिका ने ठिकाने लगा दिया है वहीं मसूद अजहर को उसके अल्लाह के पास भेजने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह से कमर कस चुकी है.
यूँ तो मसूद अजहर हमेशा से ही भारत और मानवता का दुश्मन रहा है लेकिन हाल ही में उसने पुलवामा में हमारे जवानों पर फिदायीन हमला करवा कर भारतीय सेना से कड़ी टक्कर ले ली है.
पुलवामा हमले के बाद से ही भारतीय सेना और भारत की सरकार ने इन आतंकियों ख़ास कर जैश-ऐ-मोहम्मद के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.
पढ़ें घाटी में ‘जमात-ए-इस्लामी’ पर कसा शिकंजा तो सड़क पर विरोध में उतरीं महबूबा मुफ्ती
हालाँकि अबतक मसूद अजहर और दुनिया के बड़े से बड़े आतंकियों को पनाह देने वाला पाकिस्तान इस बार भी उनके बचाव में खड़ा नज़र आ रहा है.
बता दें हाल ही में पकिस्तान के विदेश मंत्री ने एक चौंकाने वाला बयान देते हुए कहा था कि, “अजहर (मसूद अजहर) साब इस वक़्त काफी बीमार हैं और वो घर से बाहर भी नहीं निकल पा रहे हैं.
JEM Chief Masood Azhar
तो क्या मारा गया है आतंक का आका?
बताया जा रहा है कि एक खुफिया रिपोर्ट के अनुसार ये बात सामने आई थी कि ‘शांतिप्रिय मुल्क’ पाकिस्तान ने भारत के प्रकोप से मसूद अजहर को बचाते हुए उन्हें अपने आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती करा लिया था जहाँ आतंक के आका को मौत से बचाने की कोशिश की जा रही है.
हालाँकि इसी बीच एक और रिपोर्ट आई है जिसे नज़रंदाज़ तो नहीं किया जा सकता जिसके अनुसार ये दावा किया जा रहा है कि हाल ही में भारत ने खैबर पख्तूनख्वां स्थित बालाकोट में जो एअरस्ट्राइक की थी उसमें मसूद अजहर मारा जा चुका है.
वैसे इस बात की पुष्टि नहीं हुई है और इस सन्दर्भ में जितनी पड़ताल अबतक हुई है उसके अनुसार मसूद अज़हर बीमार बेशक है लेकिन मरा नहीं है.
इस मामले में अब तक का निष्कर्ष
सूचना मंत्री फवाद चौधरी से पीटीआई ने जब मसूद अजहर के बारे में पूछा तो उन्होंने ये कह कर पल्ला झाड लिया कि, ”मुझे अभी इस बारे में कुछ नहीं पता है”. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर की पाकिस्तान में मौत के बारे में सोशल मीडिया पर चल रही खबरों के बारे में भारतीय खुफिया एजेंसियां भी पता लगाने की कोशिश कर रही हैं. 
ऐसे हुई जैश-ऐ-मोहम्मद की शुरुआत
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बहावलपुर के रहने वाले अजहर ने साल 2000 में जैश-ए-मोहम्मद नाम के इस आतंकी संगठन को बनाया था.
बता दें इससे पहले तक मसूद अजहर भारत की गिरफ्त में था लेकिन साल 1999 में तत्कालीन राजग सरकार ने इंडियन एयरलाइन्स के अपहृत विमान आईसी-814 को छुड़ाने के बदलने अजहर को भारी दबाव में छोड़ दिया था और तब से ही भारत लगातार इसके तैयार किए गए आतंक की मार झेल रहा है.
JEM Chief Masood Azhar
भारत को अब तक ये चोटें दे चुका है मसूद अज़हर 
मसूद अजहर पर 2001 के संसद हमले की साजिश रचने का, जम्मू कश्मीर विधानसभा पर आत्मघाती हमले और पठानकोट वायु सेना केंद्र तथा पुलवामा आतंकी हमले की साजिश रचने जैसे संगीन आरोप हैं.
तो क्या अपने आका पर कार्रवाई के लिए तैयार है पाक?
बीते कुछ दिनों से लगातार बन रहे प्रेशर के बाद ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार भारत के साथ तनाव कम करने की कोशिश में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर कार्रवाई करने का फैसला ले सकती है.
इस मामले में अबतक आई रिपोर्ट्स की मानें तो पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के आतंकवादियों की सूची में अजहर को शामिल करने के प्रस्ताव पर अपने विरोध को वापस भी ले सकता है.
न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि सरकार ने सैद्धांतिक रूप से जेईएम (अजहर) के नेतृत्व पर कार्रवाई करने का निर्णय किया है.
जेईएम के खिलाफ देश में कार्रवाई जल्द ही किसी भी समय हो सकती है. अगर ऐसा हो जाता है तो ये आतंक के खिलाफ भारत की एक बड़ी, बहुत बड़ी जीत होगी.
पढ़ेंजंग ही नहीं कूटनीतिक में भी पाकिस्तान का बाप है भारत,OIC में दिखा दम
भारत द्वारा की गयी एयरस्ट्राइक पर जैश ने दिया है बयान 
जहाँ देश के कुछ बुद्धिजीवियों ने एक बार फिर भारत की सेना और सरकार से बालाकोट में हुई एयरस्ट्राइक का सबूत माँगा है.
वहीं रविवार को जैश ने खुद एक बयान जारी करते हुए कहा कि, ” अजहर जिंदा है और अच्छा कर रहा है.
सिर्फ इतना ही नहीं इस कबूलनामे में उसने यह भी स्वीकार किया कि भारतीय वायु सेना ने बालाकोट में उसके ठिकाने पर हमला किया था, लेकिन इससे उसे कोई नुकसान नहीं हुआ है.
जैश ने कहा है कि, “भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने इजरायल की मिसाइल से हम पर हमला किया था लेकिन अल्लाह के दूतों ने हमारी रक्षा की.” 
IJEM Chief Masood Azhar
इमरान सरकार पर भी जैश ने जारी किया है बयान 
इमरान खान सरकार को लेकर भी जैश ने बयान जारी करते हुए कहा है कि, “पहले उन्होंने भारतीय पायलट को रिहा किया और अब उन्होंने हमारे मदरसों पर नकेल कसने का फैसला लिया है. वह अपने दुश्मन (भारत) की ओर काफी नरम बने हुए हैं और अपने ही लोगों (जैश) के प्रति सख्त हैं.”
जब एक थप्पड़ में भीगी बिल्ली बन गया था आतंक का आका
आज बेशक आतंक का आका मसूद अज़हर बड़े ही शान के साथ पाकिस्तान की जमीं पर फल फूल रहा है.
लेकिन एक समय वो भी था जब एक थप्पड़ में ही ये आतंकी भीगी बिल्ली बन गया था और बिना रुके अपने जुर्म कबूल करने लग गया था.
जी हाँ बताया जाता है कि साल 1994 में जब मसूद अजहर को भारत ने गिरफ्तार किया था तब कस्टडी के दौरान खुफिया एजेंसी को अजहर से पूछताछ करने के दौरान कोई महनत नहीं करनी पड़ी थी. 
उसने सेना के एक अधिकारी के एक थप्पड़ के बाद ही तोते की तरह बोलना शुरू कर दिया था और पाकिस्तान से संचालित आतंकवादी समूहों के कामकाज के बारे में उसने विस्तार से जानकारी दे डाली थी.