पिता ने किया मंडप में बेटी का कन्यादान करने से इंकार, ऐसी शादी नहीं देखी होगी !

Bengali Wedding Without Kanyadan

Bengali Wedding Without Kanyadan : इस शादी को पुरुष नहीं बल्कि महिला पंडितों ने पूरी कराई है.

Bengali Wedding Without Kanyadan : आज के समय में सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म बन गया है जहां लोग अपनी बातों और राय को दुनिया के सामने रख सकते हैं.

मामला चाहे जो भी हो लोग बड़ी ही दृढ़ता से अपने विचारों को दुनिया के सामाने रख रहे हैं और लगे हाथ लोग भी इसके अच्छे या बुरे पन पर रिएक्ट कर रहे हैं.
इसका सबसे बड़ा फायदा उन लोगों को हो रहा है जो समाज की उन कुरीतियों को खत्म करने की दिशा में काम कर रहे जो कि हमारे लिए वर्षों से सिर्फ एक अभिषाप बना हुआ है.
पढ़ेंअब दुल्हन का वर्जिनिटी टेस्ट कराना माना जाएगा अपराध, मिलेगी सजा
दरअसल हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकी हाल ही में सोशल मीडिया पर बंगाल के कोलकाता शहर की एक शादी खूब वायरल हो रही है जहां दुल्हन और उसके परिवार ने एक अलग उदाहरण स्थापित किया है.
सबसे पहले तो आपको बता दें की बंगाल में इस शादी को पुरुष नहीं बल्कि महिला पंडितों ने पूरी कराई है.
वहीं एक और चीज जिसने इस शादी को बेहद खास बनाया वह थे लड़की के पिता जिन्होंने अपनी बेटी का कन्यादान करने से माना कर दिया.
उन्होंने सिर्फ मना ही नहीं किया बल्कि मंडप में एक लंबा और इमोशनल भाषण भी दिया जिसमें उन्होंने साफ कहा की “लड़की कोई चीज नहीं है जिसका दान दिया जाए वह एक इंसान है जिसका दान नहीं किया जा सकता”.
गौरतलब है की ट्विटर यूज़र अस्मिता घोष ने अपने अकाउंट पर इस पोस्ट को डाला था जिसके वायरल होने के बाद लोगों ने लड़की के पिता की बातों और इस शादी को बहुत सराहा और जमकर शेयर भी किया.

पढ़ें – अब भूमिगत खदानों में भी काम कर सकेंगी महिलाएं,वो भी दिन और रात – सरकार

मिली जानकारी के मुताबिक अस्मिता के इस पोस्ट को अभी तक 4,500 से ज्यादा लाइक्स और 1100 के लगभग रिट्वीट्स मिल चुके हैं
हमारे देश में आज भी कई ऐसी कुरीतियां व्याप्त हैं जिनका मतलब समझे बगैर बस निभाया जाता है.
लेकिन वक्त के साथ-साथ अब लोग इसमें बदलाव की कोशिश कर रहे हैं और हमारे समाज के लिए यह जरूरी है कि ऐसी किसी चीज को रोका ना जाए.