दिवाली बोनस में कार और फ्लैट देने वाले 5वीं पास ढोलकिया कहां से लाते हैं इतना पैसा ?

Diamond Merchant Savji Dholakia Diwali Bonus

Diamond Merchant Savji Dholakia Diwali Bonus : इस साल भी हीरा मर्चेंट ढोलकिया ने अपने 600 कर्मचारियों को कार बांटी है. 

Diamond Merchant Savji Dholakia Diwali Bonus : आजकल सोशल मीडिया पर एक खबर काफी पॉपुलर हो रही है कि एक गुजरात के बिजनेसमैन ने अपनी कंपनी के कर्मचारियों को दिवाली बोनस के तौर पर गाड़ी गिफ्ट में दी हैं.

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं गुजरात के हीरा व्यपारी सावजी ढोलकिया की,जिन्होंने हमेशा की तरह इस साल भी अपने 600 कर्मचारियों को कार बांटी है.
खास बात यह रही कि इस बार खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों दो लोगों ने अपनी कार की चाभी हासिल करी.
सबसे पहले जानिए कौन हैं सावजी 
गुजरात के छोटे से गाँव में किसान परिवार में जन्मे सावजी ने 5th क्लास के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी, इसके बाद वो सूरत आ गए और एक कंपनी में काम करने लगे. उस वक़्त उनकी उम्र मात्र 12 साल थी.
साल 1992 में सावजी ने अपने 4 भाइयों के साथ मिलकर एक हीरे की कंपनी को खरीदा था जो आज हरिकृष्ण एक्सपोर्टर्स के नाम से मशहूर है.
पढ़ें – यूपी के 850 किसानों के करोडों का कर्ज चुकाएंगे महानायक अमिताभ बच्चन
8 हजार करोड़ है सालाना टर्नओवर
बता दें कि मौजूदा वक्त में इस कम्पनी का सालाना टर्नओवर करीब 8 हज़ार करोड़ है और इसमें 7 हजार कर्मचारी कार्यरत हैं.
ये कंपनी दुनिया के 80 देशों को हीरे सप्लाई करती है और अमरीका, कनाडा, पेरू, मेक्सिको, बेल्जियम, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), हांगकांग और चीन में इसकी सहायक कंपनियां है.
दिवाली बोनस में क्या-क्या गिफ्ट मिलता है ? 
हरिकृष्ण एक्सपोर्ट्स से जुड़े लोगों को हर साल दिवाली पर ऐसे उपहार मिलते हैं जिनकी कोई कल्पना भी नहीं करता है.  घर, गाड़ी गहनों से लेकर फिक्स्ड डिपाजिट तक… हरिकृष्ण एक्सपोर्ट्स में एम्प्लोयी का पूरा ध्यान रखा जाता है.

Diamond Merchant Savji Dholakia Diwali Bonus

तो इस कारण सावजी देते हैं इतने महंगे गिफ्ट 
सावजी बताते हैं कि ऐसे गिफ्ट देने से  कर्मचारी का मन लगा रहता है और अपने काम को अधिक बेहतर तरीके से करते हैं .
इससे एक फायदा यह भी होता है कि एम्प्लोयी लम्बे समय तक हमारे बिजनेस के साथ जुड़ा रहता है और कम्पनी को नए लोगों पर ज़्यादा खर्च नहीं करना पड़ता.
गौरतलब है कि पिछले 4 वर्षों में कंपनी ने अपने 5,500 कर्मचारियों मेंसे 4000 को इस तरह का बोनस दे चुकी है.
पढ़ें – किसान के बेटे ने गरीबी को पछाड़ पायलट बन भरी उड़ान, मिलेगा पद्म श्री
कहाँ से आता है इन गिफ्ट्स के लिए पैसा ? 
इस सवाल के जवाब में सावजी ने बताया कि वह अच्छा परफॉर्म कर रहे कर्मचारी से होने वाले प्रॉफिट का 10 प्रतिशत भाग अलग से निकालकर रखते हैं और उसी से यह उपहार देते हैं.
ऐसे करते हैं उपहार के लिए योग्य कर्मचारी का चयन 
सावजी ने हर कर्मचारी को एक टारगेट दिया हुआ है, जो उसे सही समय और तरीके से पूरा करता है उसे ही यह उपहार मिलता है.
ज्ञात हो पिछले महीने सावजी की कम्पनी ने 25 साल पूरे करने वाले तीन कर्मचारियों को गिफ्ट में mercedes दी थी.
सावजी इस बात का भी पूरा ध्यान रखते हैं कि जिसके पास घर नहीं है उसे घर मिले और जिसके पास गाडी नहीं उसे गाड़ी. अगर किसी के पास दोनों होते हैं तो उसे सावजी गहने देते हैं.
 फिलहाल, हम उम्मीद करते हैं की भारत में हर किसी को सावजी जैसा बॉस मिले.