अच्छा तो इस वजह से दुनिया भर में मनाया जाता है महिला दिवस,जानें आप भी

International Womens Day 2019
PC- The Indian Express

International Womens Day 2019 :
1909 में मनाया गया था पहला महिला दिवस 

International Womens Day 2019 : आज यानी 8 मार्च के दिन हर साल महिला दिवस मनाया जाता है , इस दिन दुनियाभर में महिलाएं को सम्मान और जीवन में उनके किए विशेष योगदानों को याद किया जाता है.

ऑफिस में, स्कूल में, कॉलेज में या कहीं भी काम करने वाली सभी महिलाएं इस दिन एक दूसरे को बधाई देती हैं ,लेकिन क्या आप इस दिन का महत्व जानते हैं ?
1909 में मनाया गया था पहला महिला दिवस 
इतिहासकारों के अनुसार सबसे पहला महिला दिवस 1990 में मनाया गया था और इसकी शुरुआत करने वाली अमेरिका के न्यूयॉर्क की सोशलिस्ट पार्टी थी .
पढ़ेंकेवल महिला दिवस के दिन ही महिलाओं को सम्मान ना दें, आपको भी इस खास दिन की शुभकामनाएं
1910 में सोशलिस्ट इंटरनेशनल के कोपेनहेगन सम्मेलन में अंतरराष्ट्रीय दर्जा हासिल हुआ, इस सम्मेलन में 17 देशों की 100 महिला प्रतिनिधि हिस्सा लेने पहुंची थी.
जिसके बाद 1911 में 19 मार्च को कई देशों ने इस दिन को मनाया .
International Womens Day 2019
8 साल बाद 8 मार्च को मिली दुनियाभर में पहचान 
इसके पीछे की कहानी बड़ी ही दिलचस्प है, कुछ किताबों के अनुसार 1917 में रूस की महिलाओं ने एक अलग तरह का आंदोलन शुरू किया जिसमें वो इस कदर हड़ताल पर गयी कि ज़ार ने सत्ता छोड़ी और महिलाओं को वोट देने का अधिकार मिल गया.
कहा जाता है कि उन दिनों रूस में जुलियन कैलेंडर चलता था जबकि बाकि दुनिया में ग्रेगेरियन कैलेंडर इन दोनों की तारीखों में कुछ अन्तर होता है.
तो ऐसे तय हुई 8 मार्च की तारिख
जुलियन कैलेंडर के मुताबिक 1917 की फरवरी का आखिरी इतवार 23 फ़रवरी को था जबकि कैलैंडर के अनुसार उस दिन 8 मार्च था.
यही कारण था कि हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की अधिकारिक घोषणा कर दी गयी और आज भी इस दिन को मनाया जाता है.
पढ़ें लगातार तीसरे साल भी साफ सफाई में इंदौर फर्स्ट, राज्यों में छत्तीसगढ़ ने मारी बाजी
नारी है तो जीवन है 
महिलाओं के योगदान और सशक्तिकरण को समर्पित है ये दिन यूं तो महिलाओं द्वारा समाज में दिए जाने वाले योगदान का कोई मोल नहीं लेकिन आज के दिन समाज इन महिलाओं को सम्मान देता है और उन्हें गर्व महसूस करता है.
असल मायने में यदि हर दिन को महिला दिवस मानकर चलें तो यकीनन समाज में सुधार होगा और महिलाएं सुरक्षित भी रहेंगी.
एक बेटी, एक माँ, एक दोस्त और हर एक लड़की को महिला दिवस की शुभकामनाएं और साथ ही अनन्त धन्यवाद जिन्होंने इस दुनिया को जीना सिखाया है.