99 साल के इतिहास में जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी को मिली पहली महिला कुलपति

Jamia Millia Islamia First Woman VC
Google Pic

Jamia Millia Islamia First Woman VC : 99 साल बाद कुलपति के रुप में किसी महिला की नियुक्ति हुई है.

Jamia Millia Islamia First Woman VC : भारत मे महिलाओं की स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है, चाहे बात उनकी शिक्षा की हो या फिर नौकरी की.

हर क्षेत्र में आज वो पुरूषों से कंधे से कंधा मिलाकर या यूं कहे कि अब तो उनसे एक कदम आगे ही चल रही हैं.
यही वजह है कि अब इतने सालों में देश के उन सभी ओहदे पर महिलाएं पहुंच रहीं है जहां कभी इनकी मौजूदगी एक बड़ा अभिषाप माना जाता था.
पढ़ेंसंजना बनीं सरकारी नौकरी पाने वाली मध्य प्रदेश की पहली ट्रांसजेंडर
दरअसल हम आज ये सब बातें इसलिए कर रहे हैं क्योंकि देश के सबसे पुराने और खास विश्वविद्यालयों में से एक जामिया मिल्लिया इस्लामिया में 99 साल बाद कुलपति के रुप में किसी महिला की नियुक्ति हुई है.
प्रोफसर नजमा अख्तर 1920 में स्थापित इस संस्थान की अब तक के इतिहास की पहली महिला कुलपति बन गई हैं.
जी हां जामिया मिल्लिया इस्लामिया अधिनियम 1988 के तहत प्राप्त अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए भारत के राष्ट्रपति ने उनकी नियुक्ति का आदेश दे दिया है.
बता दें कि मंत्रालय ने जामिया मिलिया इस्लामिया (दिल्ली), महात्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी (मोतिहारी, बिहार) और महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय (वर्धा महाराष्ट्र) के वाइस चांसलर की नियुक्त के लिए राष्ट्रपति को कुल 9 नामों(हर यूनिवर्सिटी के लिए 3नाम) की एक लिस्ट सौंपी थी.
जिसके बाद भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के विजिटर के तौर पर इन 9 नामों में से हर यूनिवर्सिटी के लिए एक-एक कुलपति का चयन किया है.
पढ़ें – जानें 2019 की देश की टॉप यूनिवर्सिटी और इंजीनियरिंग कॉलेजों के नाम
गौरतलब है कि पिछले साल तलत अहमद के कश्मीर विश्वविद्यालय के प्रमुख के तौर पर जाने के बाद से जामिया में बिना कुलपति के काम हो रहा था.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जामिया की कुलपित नजमा अख्तर नई दिल्ली स्थित एनआईईपीएम में बतौर प्रोफेसर कार्यरत थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here