परिवार के खिलाफ जाकर युवक ने करी ट्रांसजेंडर से शादी, धर्म भी अलग

Man Married Transgender

Man Married Transgender : ट्रांसजेंडर जया जहां हिंदू है वहीं जुनैद खान एक एक मुस्लिम परिवार से आते हैं.

Man Married Transgender : कहते हैं सच्ची मोहब्बत जात-पात,ऊंच-नीचअमीरी गरीबी नहीं देखती, इसका उदाहरण प्रेमियों ने कई दफा दिया है.

और तो और अब तो प्रेम करने के लिए जेंडर यानी लिंग भी कोई मायने नहीं रखता,इसे एक बार फिर साबित किया है मध्य प्रदेश के जुनैद खान ने.
दरअसल 14 फरवरी यानी की वैलेंटाइन डे के दिन मध्यप्रदेश के इंदौर में एक अनोखी शादी देखने को मिली.
अनोखी इस वजह से क्योंकी यहां पर एक युवक ने किसी लड़की से नहीं बल्की एक ट्रांसजेंडर से शादी करी है.
इसमें दिलचस्प यह भी है की दोनों का धर्म भी अलग अलग है ट्रांसजेंडर जया जहां हिंदू है वहीं जुनैद खान एक एक मुस्लिम परिवार से आते हैं.
पढ़ेंपिता ने किया मंडप में बेटी का कन्यादान करने से इंकार, ऐसी शादी नहीं देखी होगी !
इन दोनों ने ही गुरुवार को मंदिर में सात फेरे लेकर हमेशा के लिए शादी के बंधन में बंध गए.
हालांकी जुनैद के इस फैसले से उनके परिवार के सद्स्य काफी गुस्से मे है, लेकिन उम्मीद है की वो जल्द ही मान जाएंगे.
जुनैद ने मीडिया से बातचीत में कहा की मैं चाहता हूं कि मेरे परिवारवाले मुझे स्वीकार कर लें लेकिन यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तो भी मैं अपनी पत्नी के साथ ही रहूंगा.
उन्होंने कहा की मैं अपनी पत्नी को बहुत चाहता हूं और उन्हें हमेशा खुश रखूंगा.
वहीं ट्रांसजेंडर जया कहती हैं की किसी ट्रांसजेंडर शख्स के लिए शादी करना बहुत बड़ी चुनौती होती है क्योंकि इसे समाज काफी अजीब मानता है.
जया ने बताया की जुनैद के माता पिता हमारी इस शादी के खिलाफ हैं लेकिन इसके बावजूद उसने मुझसे शादी करी.
हालांकी उम्मीद है कि जुनैद के माता-पिता मुझे जल्द ही स्वीकार कर लेंगे और एक दिन मैं अपने सास-ससुर की सेवा कर सकूंगी.
PC – ANI
सामाजिक कार्यकर्ता है जया
एनडीटीवी की खबर के मुताबिक जया बदलाव समिति नामक गैर सरकारी संगठन से बतौर सामाजिक कार्यकर्ता जुड़ी हैं.
पढ़ें – अब दुल्हन का वर्जिनिटी टेस्ट कराना माना जाएगा अपराध, मिलेगी सजा
इसे लेकर एलजीबीटी समुदाय के हित में काम करने वाले संगठन के मीडिया प्रभारी रोहित गुप्ता ने बताया की पहले जया किन्नरों के स्थानीय डेरे से जुड़ी थी और अन्य किन्नरों के साथ लोगों से नेग मांगती थी.
लेकिन अब वह किन्नरों का डेरा छोड़ चुकी है और अपना रोजगार शुरू करना चाहती है.