Adventurous Birthday: मेरठ की नन्ही ईहा 1000 पौधारोपण कर मनाएगी अपना जन्मदिन

adventurous birthday
meerut adventurous girl

Adventurous Birthday: 5 साल की ईहा की 1000 पौधें लगाने की जिद्द

Adventurous Birthday: वर्तमान में लोगों के द्वारा अपने स्वार्थ के लिए पेड़ों का काटना पर्यावरण के लिए एक गंभीर चिंता का विषय बना हुआ है.

बड़ी संख्या में कट रहे ये पेड़ तेजी से हमें उस विनाश की तरफ ले जा रहे जहां से शायद किसी मानव जिंदगी की कल्पना करना नामुमकिन हो .
मगर ऐसा नहीं है कि लोग इन पेड़ो की महत्तवता के बारे में नहीं जानते, पर दुख इस बात का है वो सब कुछ जानकार भी चुप हैं.
लेकिन इसी समाज के बीच एक ऐसी भी बच्ची है जिसने इन पेड़ों को बचाने की जिद्द पकड़ी हुई है.
मेरठ की रहने वाली 5 साल की ईहा ने आने वाले 29 सितंबर को अपने पापा-मम्मी के साथ 100-200 नहीं बल्कि 1000 पौधारोपण करने का लक्ष्य रखा है.
29 सितंबर ही क्यों?
नन्ही ईहा के पापा सोनू शर्मा ने ह्यूमन जंक्शन के साथ अपनी बातचीत में कहा कि 29 सितंबर को उनकी बेटी का जन्मदिन होता है. और उनकी बेटी कि ख्वाहिश है कि वो अपना जन्मदिन कोई पार्टी करके नहीं बल्कि शहर को हरा भरा बनाकर सेलीब्रेट करे.
इसलिए हम इस बार उसके जन्मदिन पर कोई पार्टी नहीं बल्कि उसके हाथों पौधारोपण कराकर उसकी इस ख्वाइश को पूरा करने चाहते हैं.

कार्टून देखकर मिली प्रेरणा

आपको बता दें कि और बच्चों की तरह ही 5 साल की ईहा को भी कार्टून देखने का बहुत शौक है.
कार्टून देखकर ही उसने इतनी कम उम्र में ये जाना कि पेड़ लगाने से वातावरण की रक्षा होती है. और इसी बात को उसने अपना बाल हट भी बना लिया.
ईहा ने कई दिनों से ये जिद् पकड़ी हुई थी कि वातावरण की रक्षा के लिए वो भी पेड़ लगाएगी.
लोगों का मिल रहा सहयोग
मेरठ के जागृति विहार में 2 किमी तक फैले अबु नाले के पास पड़ी जमीन में 29 सितंबर को पौधारोपण करने का कार्यक्रम रखा गया है.
जिसमें जामुन,आम,कांजी,नीम,पीपल के करीब 4-5 फिट के 1000 पौधें लगाए जाएंगे.
सोनू बताते हैं कि पहले उनकी 500 पौधें रोपने की योजना थी. मगर लोगों के सहयोग के कारण ये संख्या 1000 हो गई.
इसके अलावा उन्होंने ये भी जानकारी दी कि इन पौधों की देख रेख के लिए 3 माली भी रखे जाएंगे .
उन्होंने बताया कि उनकी बेटी की ख्वाहिश थी कि वो रोज़ एक पौधे लगाए. लेकिन समय के अभाव में ये मुमकिन नहीं था. इसलिए उन्होंने इसके लिए एक दिन तय किया ताकि पौधें रोपने में आसानी हो सके.
गौरतलब है कि इन 1000 पौधों को लगाने के लिए लगभग 1 लाख रुपये का खर्च आ रहा है. जिसे एक बाप अपनी बेटी की खुशी के लिए खर्च कर रहे.