दर्द से तड़प रही गर्भवती महिला के लिए मुंबई पुलिस ने रेलवे प्लेटफार्म पर ही बना दिया लेबर रूम

Mumbai Police Help Pregnant Woman

Mumbai Police Help Pregnant Woman : पुलिसकर्मियों ने मेडिकल टीम का इंतजार किए बिना एक अस्थाई लेबर रूम बना दिया.

Mumbai Police Help Pregnant Woman : पुलिस का काम लोगों की सुरक्षा करना होता है लेकिन कई बार इस दौरान हम उसकी मानवता का वो रुप देखते हैं जिसकी उम्मीद शायद ही हम में से कोई करता हो .

ऐसा ही कुछ देखने को मिला मुंबई में, जहां दर्द से तड़प रही एक गर्भवती महिला की डिलवरी के लिए मुंबई की जीआरपी पुलिस ने आगे आकर उसके बच्चे को सकशुल दुनिया में लाने का काम किया है.
दरअसल 21 साल की गीता वागारे दादर स्टेशन पर अपने 4 सदस्यीय परिवार के साथ पुणे जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रही थी.
तभी अचानक उन्हें लेबर पेन शुरू हो गया, इसकी सूचना जब स्टेशन पर तैनात पुलिसकर्मियों को मिली तो वो तुरंत ही महिला के पास पहुंच गए और  रेलवे मेडिकल टीम को भी मामले से अवगत करा दिया.
पढ़ें – दोस्त की अंतिम इच्छा पूरी करने के लिए बनवाया गरीबों के लिए कैंसर अस्पताल
लेकिन महिला का दर्द इतना ज्यादा था की उसे देखते हुए वहां खड़े पुलिसकर्मियों ने मेडिकल टीम का इंतजार किए बिना एक अस्थाई लेबर रूम बना दिया.
पुलिस कर्मियों ने उनके पति और महिला के लिए चार बेडशीट जोड़ते हुए उस इलाके को पूरी तरह कवर कर दिया.
और किस्मत की बात देखिए की गीता की डिलवरी उसी जगह पर हो गई वो भी बिल्कुल स्वस्थ्य हालात में, जिके बाद उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया.

देखें वीडियो :

एएनआई की खबर के मुताबिक 24 दिसंबर को घटी इस घटना में मां और बच्चे दोनों अब पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं .
इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर मुंबई पुलिस को लोग खूब दुआएं  दे रहे हैं और इनके द्वारा किए गए इस काम की तारीफ कर रहें .
पढ़ेंसाइकिल से सबसे तेज दुनिया का चक्कर लगाने वाली पुणे की वेदांगी बनी पहली एशिआई महिला
गौरतलब है कि यह पूरी घटना स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी जिसका वीडियो अब वायरल हो कर लोगों तक पहुंच रहा है.
इससे पहले 30 साल की सलमा तब्बसुम को भी ट्रेन में ऐसी ही स्थिति का सामना करना पड़ा था जहां उन्हें लेबर पेन शुरू हो गया और उसके बाद उन्होंने कल्याण स्टेशन पर जुड़वा बच्चों को जन्म दिया.