SDO पिता की गाड़ी पर चढ़ी थी ब्लैक फिल्म, सब इंस्पेक्टर बेटे ने काटा चालान

Policeman Make Challan of his Own Father Car
फोटो साभार - सोशल

Policeman Make Challan of his Own Father Car : पिता अपने परिवार से मिलने के लिए उमरिया आए हुए थे

Policeman Make Challan of his Own Father Car : सड़क पर गाड़ी चलाते हुए जाने अनजाने हमसे कई गलतियां हो जाती हैं जिसके लिए हमें अपने वाहन का चालान कटवाना पड़ता है.

लेकिन अक्सर ऐसा देखा जाता है कि लोग अपना चालान कटवाने से बचने के लिए काफी कोशिश करते हैं.
इसके लिए कुछ लोग अपने रसूख का इस्तेमाल करते हैं तो कुछ तुरंत ही अपने नाते रिश्तेदार के यहां फोन कर चेकिंग ऑफिसर को थमाने लगते हैं.
वहीं अगर किसी शख्स के पिता या भाई पुलिस में हुए फिर तो उनका चालान काटना मानो टेढ़ी खीर हो जाती है .
पढ़ें – मिलिए अहमदाबाद के ‘Monkey Man’ से, हाथ से खिलाते हैं बंदरों को 1700 रोटियां
लेकिन मध्य प्रदेश के उमरिया जिले में जो देखने को मिला वो वाकई देश के लिए बहुत बड़ी सीख है.
दरअसल यहां एक सरकारी अधिकारी की गाड़ी का चालान खुद उनके सब इंस्पेक्टर बेटे ने ही काट डाला.
हुआ यूं कि पुलिसकर्मी के पिता जो कि SDO के पद पर कार्यरत हैं अपने परिवार से मिलने के लिए उमरिया आए हुए थे.
लेकिन उनकी गाड़ी के शीशे पर लगी ब्लैक फिल्म के कारण उन्हें पुलिस ने रोक लिया और इत्तेफाक की बात थी की चेकिंग अभियान का नेतृत्व उनका सब इंस्पेक्टर बेटा अखिलेश कर रहा था.
जब पिता-बेटे ने एक-दूसरे को देखा तो हैरान रह गए. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने साथियों को निर्देश दिया कि किसी के साथ कोई भेदभाव न किया जाए.
ये सुनकर पिता ने खुद से अपनी गाड़ी में लगी काली फिल्म निकलवा ली और जुर्माने का भुगतान भी किया.
पढ़ें – 8 साल की दिल्ली गर्ल ने बनाया ऐसा गेम, गूगल ने ऑफर कर दी नौकरी
भारत में क्या है शीशे पर बलैक फिल्म का नियम
सेंट्रल मोटरवाहन नियम-1989 के तहत शीशों पर रंगीन या काली फिल्म लगवानी है तो विजिबिलिटी 50% से कम नहीं होनी चाहिए. वहीं सामने और पीछे वाले शीशों सामने और पीछे वाले शीशों की विजिबिलिटी 70 फीसदी होनी चाहिए.
गौरतलब है कि दिल्ली में हुए निर्भया कांड से भारत में शीशे पर गाड़ी के किसी भी शीशे पर काली फिल्म चढ़ाना पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है और ऐसा करने वालों पर भारी जुर्माना वसूला जाता है.