Samdarshi Foundation : IIT से इंजीनियरिंग कर रहे इस छात्र ने गरीब बच्चों को पढ़ाने के लिए शुरू की मुफ्त ट्यूशन क्लास

SAMDARSHI FOUNDATION
फोटो साभार - रेडिफ

Samdarshi Foundation :गरीब बच्चों की मदद के लिए खोला एनजीओ

Samdarshi Foundation : तीन साल पहले बृजेश ने आईआईटी की एंट्रेस परीक्षा पास कर इंजीनियर बनने का सपना लेकर आईआईटी मुंबई में दाखिला लिया था.

यूपी के एक दिहाड़ी करने वाले मजदूर के घर में जन्मे बृजेश के लिए देश के सर्वोच्च तकनीकी संस्थान मे पढ़ना किसी सपने से कम ना था. मगर अपनी पढ़ाई के प्रति निष्ठा और लगन के बल पर उन्होंने विकट गरीबी में भी आईआईटी की प्रवेश परीक्षा निकाली.
मुश्किल हालातों से लड़कर हासिल किया मकाम
बृजेश सरोज और राजू सरोज दोनों भाईयों ने साल 2015 में इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई का एग्जाम दिया था. 167 रैंक के साथ जहां बृजेश को आईआईटी मुंबई में एडमिशन मिला वहीं 410 रैंक के साथ राजू को आईआईटी खड़गपुर मिला.
गरीब परिवार से होने के कारण आईआईटी की पहले साल की 1 लाख रुपए की फीस देना उनके बस में नहीं था.
यह भी पढ़ेंUniversity Of America की लेक्चरार बीना जोशी ने उठाया गरीब बच्चों की पढ़ाई का जिम्मा
मगर दुनिया भर से लोगों की मिली मदद और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तरफ से शुल्क में छूट के कारण दोनो भाइयों ने अपनी आईआईटी के पहले सेमेस्टर की पढ़ाई शुरू की.

SAMDARSHI FOUNDATION

गरीब बच्चों की मदद के लिए खोला एनजीओ
मुंबई में पहले साल की पढ़ाई के दौरान ही बृजेश के जहन में एक बात आई कि जिस तरह उन्हें इस संस्थान में दाखिला मिलने के बाद फीस भरने में मुश्किलों का सामना करना पड़ा. उसी तरह देश में ना जाने कितने बच्चें ऐसे होंगे जो पढ़ाई में मेधावी होने के बावजूद पैसों की कमी के कारण अच्छी शिक्षा नहीं ग्रहण कर पाते.
यह बात बृजेश को काफी अखड़ने लगी और उन्होंने फिर एक दिन अपने दोस्तों के साथ मिलकर ‘समदर्शी फाउंडेशन’ नाम का एनजीओ खोलाइस एनजीओ का उद्देश्य गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए काम करना है.
एनजीओ के माध्यम से बृजेश और उनके दोस्तों ने मुंबई के कल्याण में एक छोटी सी ट्यूशन क्लास शुरू की है जहां वह बच्चों को मुफ्त पढ़ाते हैं ताकि उन्हें बड़े स्कुलों में एडमिशन के लिए तैयार किया जा सके.
फिलहाल अभी उनके ट्यूशन क्लास में 15 बच्चे पढ़ते हैं और उनको उम्मीद है कि आगे यह संख्या और बढ़ेगी.
यह भी पढेंSSB Adopt Orphan Kids : देश की सशस्त्र सीमा बल अनाथ किशोरों को लेगी गोद, बनाएगी सेना का जवान
अच्छे काम से जुड़ने के लिए लोग हमेशा ही आगे बढ़ते हैं और बृजेश को भी इस नेक काम में साथ मिलना शुरू हो गया है. अभी इस एनजीओ को एक साल भी नहीं हुआ है लेकिन वॉलियंटर के तौर पर कई लोग इससे जुड़ने लगे हैं.
इसके अलावा बृजेश और उनकी एनजीओ ने झुग्गी झोपड़ी के बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए अब तक तक 10 लाख रुपए भी जुटा चुके हैं.

SAMDARSHI FOUNDATION

आईएस बनकर करना चाहते हैं सेवा
फिलहाल बृजेश प्रतापगढ़ में अपने घर पर है और अपने भाई के साथ वहां के गरीब बच्चों को जवाहर नेहरू नवोदय विघालय में एडमिशन के लिए तैयारी करा रहे हैं.
उनका मानना है कि उन्हें आईआईटी तक पहुंचाने के लिए इस स्कूल का बड़ा योगदान रहा है क्योंकि उन्होंने अपने इंटर तक की पढ़ाई यहीं से की हुई है .में
वहीं बृजेश अब आईआईटी में पढ़ाई के साथ -साथ यूपीएससी की भी तैयारी कर रहे हैं. उनका सपना है कि वह आईएएस बनकर सामज के लिए कुछ कर सकें.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On Facebook, Twitter, Instagram, and Google Plus