ISRO GSAT 6A Satellite Launch : इसरो के GSAT-6A सैटेलाइट ने भरी सफल उड़ान, जानें इसके फायदे

ISRO GSAT 6A Satellite Launch
PC - isro.gov.in

ISRO GSAT 6A Satellite Launch : जीएसएलवी की यह 12वीं उड़ान थी, 10 साल की मिशन लाइफ वाला यह उपग्रह मोबाइल संचार के संचालन में सरलता लाएगा.

ISRO GSAT 6A Satellite Launch : चैन्नई से 110 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा में अंतरिक्ष केंद्र ने संचार उपग्रह जीसैट-6ए के साथ इसरो के जीएसएलवी-एफ08 रॉकेट का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया गया.

आपको बता दें कि इस 2140 किलोग्राम वजनी एस बैंड सैटेलाइट को आज शाम 4:56 मिनट पर लॉन्‍च किया गया. जीसैट-6ए न सिर्फ इसरो और देश की सेनाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण है.
415.6 टन वाली इस सैटेलाइट की मिशन लाइफ 10 साल की बनाई गई है. आपको बता दें कि इस रॉकेट लॉन्चिंग के 17 मिनट बाद इसका उपग्रह इससे अलग कर दिया गया जिसे 36 हजार किलोमीटर की ऊंचाई पर भू-स्थैतिक कक्षा में स्थापित किया गया है.
यह भी पढ़ें भारत की एक और बड़ी सफलता, सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ‘ब्रह्मोस’ पोखरण से हुई लॉन्च
गौरतलब है कि यह जीएसएलवी की 12वीं उड़ान और स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन के साथ छठी उड़ान रही. इस सैटेलाइट में सी-बैंड फ्रीक्वेंसी के लिए 0.8 मीटर का एक फिक्स्ड एंटीना हब कम्युनिकेशन लिंक करने के लिए लगा हुआ है.
इसके उपग्रह के प्रक्षेपण से सैटेलाइट आधारित मोबाइल कम्युनिकेशन उपकरणों के संचालन में काफी मदद मिलेगी.
हालांकि उपग्रह के प्रक्षेपण के लिए रॉकेट में भी बदलाव किए गए हैं. सैटेलाइट को ले जाने वाले जीएसएलवी रॉकेट के पास दूसरे चरण के लिए उच्च स्तर का इंडक्शन लगा हुआ है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus