भारी बारिश और भूस्खलन से केरल के हालात बने चिंताजनक, पीएम ने दिया मदद का भरोसा

Kerala Heavy Rain Updates
एनडीआरएफ की टीम बचाव करते हुए

Kerala Heavy Rain Updatesएयरपोर्ट से लेकर बस सेवा तक सब कुछ प्रभावित  

Kerala Heavy Rain Updates : केरल में बीते बुधवार यानी 8 अगस्त से इतनी बारिश हो रही है कि वहां के कई इलाकों में लोगों का जीवन मुश्किल हो गया है.

हालात इस हद्द तक खराब हो गए हैं कि किसी भी वक़्त बाढ़ आ सकती है जिसे लेकर पहले से ही राज्यों के ज्यादातर  इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.
मौसम विभाग के मुताबिक पूरे राज्य में 24 घंटे में 337% से ज्यादा बारिश हुई है. दरअसल औसतन राज्य में 13.9 मिमी बारिश होनी चाहिए थी मगर अब तक 66.2 मिमी हो चुकी है.
इन हालातों को देखते हुए केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने स्थिति को ‘काफी विकट’ करार दिया है.
उन्होंने जानकारी दी की राज्य सरकार ने भारत सरकार से सेना, नेवी, कोस्ट गार्ड और एनडीआरएफ की टीमों की मदद मांगी थी.
जिसके बाद सेना और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रया बल को इडुक्की, कोझिकोड, वायनाड और मलप्पुरम जिले के प्रभावित इलाकों में राहत अभियान में लगा दिया गया है.
पढ़ें – देवरिया शेल्टर हाउस : “दो वक़्त का खाना और गंदे काम” पूरी सच्चाई आपको रुला देगी
भूस्खलन से हो रही हैं सबसे ज़्यादा मौत
मिली जानकारी के अनुसार भारी बारिश के बीच 24 लोग मरे हैं  हैं जिनमें से 17 की मौत इडुक्की और मलपुरम जिलों में भूस्खलन की वजह से हुई है.
ऐसी आशंका जताई जा रही है कि भूसख्लन की वजह से कई और लोग मारे जा सकते हैं . एहतियातन सराकर ने करीब 10000 लोगों को शविर में भेजा है और सभी को अलर्ट रहने की सलाह दी है.
इसके अलावा केरल सरकार ने टूरिस्ट को पहाड़ी इलाकों और डैम साइट्स पर जाने से मना किया है.

पीएम मोदी ने की मदद की पेशकश 
प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘‘उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री श्री पिनराई विजयन से बातचीत की और राज्य के विभिन्न हिस्सों में आई बाढ़ पर उत्पन्न स्थिति को लेकर गंभीर चर्चा की.
हमने प्रभावित लोगों के लिए सभी संभव सहायता की पेशकश की और हम इस त्रासदी में केरल के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं.’’

Kerala Heavy Rain Updates

एयरपोर्ट से लेकर बस सेवा तक सब कुछ प्रभावित  
भारी बारिश के बीच जहां 9 तारिख को 2 घंटे के लिए फ्लाइट रद्द की गयीं थीं वहीं अब खबर है कि कोच्चि एयरपोर्ट भी बाढ़ के पानी में डूब सकता है.
कोझिकोड और वालायर के बीच तो बारिश के कारण रेलवे ट्रैक ही बह गया जिससे इन दोनों जगहों के बच की रेल सेवा ठप हो गई है.  बात अन्य यातायात सेवा की करें तो सभी कुछ पूरी तरह से पटरी से उतरा हुआ है.
ख़ास बात यह है कि अमेरिका ने भी अपने देशवासियों को सलाह दी है वो इस वक़्त केरल और अन्य बाढ़ प्रभावित इलाकों में ना जाएँ.
पढ़ें – कलयुग में दिखे एक नहीं चार श्रवण कुमार, कंधो पर मां-बाप को बैठाकर कराई कांवड यात्रा
कई मुख्य बाँध खोले गए 
लगातार बढ़ते जल स्तर के कारण केरल में बने कई मुख्य बाँध खोल दिए गए हैं . इतिहास में ऐसा पहली बार है जब केरल में एक साथ 24 बाँधों के सभी गेट एक साथ खोले गए हैं. . कई मुख्य नदियों में जल स्तर करीब 40 से 50 फ़ीट तक ऊपर पहुँच गया है.
विशेष जानकरी 
यदि आपका कोई जानकर  या आप खुद केरल में है तो  बाढ़ में मदद लेने के लिए 1077 नंबर पर काल करें. यह नंबर सरकार की तरफ से जारी किया गया है. इसके साथ ही हर जिले में कण्ट्रोल रूम भी बने हैं जिनसे आप संपर्क कर सकते हैं.