#Me Too : अतीत में हुए यौन शोषण पर चुप्पी तोड़ने वाली महिलाओं को चुना गया ‘पर्सन ऑफ द ईयर’

#me too

#Me Too : भारतीय हस्तियों ने भी साझा किया अपना दर्द

#Me Too : महिला हिंसा के खिलाफ शुरू हुए ‘मी-टू‘ कैम्पेन को टाइम मैगजीन ने 2017 का पर्सन ऑफ द ईयर चुना है.

विश्व प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने दुनियाभर में अतीत में हुए यौन शोषण, यौन प्रताड़न या यौन हिंसा का खुलासा करने वाली महिलाओं को इस साल का ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ घोषित किया है. इन महिलाओं को  ‘द साइलेंस ब्रेकर्स‘ का नाम दिया गया है.
वहीं इस सूची में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दूसरे स्थान पर रहे जबकि उनके बाद चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का नाम है.
टाइम मैगजीन सौ सालों से पर्सन ऑफ ईयर का ऐलान करती है. यह अवॉर्ड उन लोगों को दिया जाता है जिन्‍होंने पूरे साल अच्‍छी या फिर बुरी खबरों के कारण पूरी दुनिया के सामने अपनी एक अलग छवि तैयार की हो.
दुनियाभर में लोकप्रिय हुआ था #MeToo कैंपेन
हॉलीवुड के निर्माता-निर्देशक हार्वी वाइंस्टाइन और अन्य पुरुषों से जुड़े यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद साइलेंस ब्रेकर कैंपेन की शुरुआत हुई थी.
अमेरिकी अभिनेत्री ऐलिसा मिलानो ने सबसे पहले इसके खिलाफ #MeToo का इस्तेमाल किया था, जो देखते ही देखते पूरी दुनियाभर में लोकप्रिय हो गया.
महिलाएं और यहां तक कि पुरुषों ने भी #MeToo और दूसरे हैशटैग के साथ यौन उत्पीड़न के खिलाफ अपनी चुप्पी तोड़ी और अपना दर्द साझा किया. इस कैंपेन में हमारे बॉलीवुड की हस्तियों ने भी हिस्सा लिया और यौन उत्पीड़न से जुड़ी अपनी कहानी को इस कैंपेन के माध्यम से शेयर किया.
भारत में वायरल हुई #metoo की कहानियां
मल्लिका दुआ
मशहूर कॉमेडियन मल्लिका दुआ ने सोशल मीडिया पर बचपन में अपने साथ हुई यौन शोषण की घटना का खुलासा करते हुए बताया कि 7 साल की उम्र में उनके साथ भी यौन शोषण की घटना हुई थी.
उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि मैं अपनी कार में पीछे की सीट पर बैठी थी और मेरी मां कार चला रही थीं जबकि वह हमारे साथ पीछे बैठा था और पूरे समय उसका हाथ मेरी स्‍कर्ट में था.
मैं सिर्फ 7 साल की थी और मेरी बहन 11 साल की. उसका हाथ मेरी स्‍कर्ट के अंदर था और मेरी बहन की पीठ पर था. मेरे पिता जो उस समय दूसरी कार में थे, उन्होंने उसका मुंह तोड़ दिया क्‍योंकि उसी रात उन्‍होंने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया था.
2) ऋचा चड्डा
ऋचा ने बताया कि जब वो खुद इंडस्ट्री में नई आई थीं, तब उन्हें भी काम करने के बदले इस तरह के कई ऑफर दिए गए. लेकिन उन्होंने तब ऐसा करने से मना कर दिया था.
अपने अनुभव को शेयर करते हुए ऋचा ने कहा, ‘जब मैं इस इंडस्ट्री में आई थी तब मुझे कहा गया कि इस एक्टर को मैसेज भेजो और उसके साथ डेट पर जाओ.
मैंने कहा कि वो तो शादीशुदा है तो मुझे कहा गया कि तुम किसी क्रिकेटर से बात करो फिर, इससे तुम्हारे करियर को बढ़ने में भी मदद मिलेगी. तो मुझे इस तरह की सलाह मिला करती थी.उन्होंने कहा कि इसी वजह से इस इंडस्ट्री में मेरे कुछ ही दोस्त हैं.
3) इरफान खान
सोशल मीडिया पर छिड़े #Metoo कैंपेन में ना सिर्फ महिलाओं ने अपनी बात खुलकर कही थी. बल्कि पुरुषों ने भी इस कैंपेन को सराह और अपनी बात लिखी.
#Metoo कैंपेन पर इरफान ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि कैसे करियर के शुरुआती दिनों में काम पाने के लिए उन्हें लोगों के द्वारा अजीब अजीब तरह के ऑफर मिले लेकिन उन्होंने मना कर दिया.
इरफान ने बताया कि मुझे भी सेक्स के लिए कई बार औरतों के साथ-साथ मर्दों की ओर से ऑफर मिले. यह बहुत लोगों के साथ होता है और हर इंडस्ट्री में ऐसा होता है, इसमें सिर्फ बॉलीवुड और हॉलीवुड की बात नहीं है.
इरफान ने आगे कहा कि वो किसी का नाम नहीं लेना चाहते, लेकिन ऐसे देश के अधिकतर क्षेत्रों में होता है.