World Happiest Country : नॉर्वे का हर नागरिक बिताता है खुशी की जिंदगी, कैदी भी जेल में चलाते हैं इंटरनेट

world happiest country

World Happiest Country : हर नागरिक को मिलता है एक सा सम्मान

World Happiest Country : नॉर्वे, एक ऐसा अनोखा देश है जहां हर नागरिक खुशी की जिंदगी जीता है, और ऐसा इसलिए है क्योंकि वहां की सरकार विकास को तवज्जो नहीं देती है, बल्कि हर नागरिक की खुशी को महत्व देती है.

यहां आम नागरिक ही नहीं, बल्कि जेल में बंद कैदियों की खुशी का भी खास ध्यान रखा जाता है.शायद ही ऐसा दुनिया के किसी और देश में देखने को मिलेगा.
इसी कारण संयुक्त राष्ट्र ने नार्वे को विश्व का वर्ल्ड हैपिएस्ट कंट्री के खिताब से नवाजा है. सही मायनों में कहें तो नार्वे इस खिताब का हकदार भी है.
आइए जानते हैं आखिर नार्वे को क्यों दुनिया का सबसे दिलचस्प देश माना जाता है.
सबसे पहले वाई-फाई शुरू करने वाला देश
नॉर्वे दुनिया का सबसे पहले वाई-फाई शुरू करने वाला देश है. पूरे देश में हर वर्ग के लोगों को मुफ्त इंटरनेट की सेवा दी जाती है. यहां तक कि जेलों में भी कैदियों को फ्री इंटरनेट दिया जाता है.

world happiest country

जेल में इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं कैदी
नॉर्वे की जेलों में बंद कैदियों को भी मुफ्त इंटरनेट सेवा दी जाती है. जेल में कैदी इंटरनेट का इस्तेमाल भी करते हैं. हालांकि इंटरनेट का समय कुछ घंटों के लिए निर्धारित रहता है.
नॉर्वे सरकार जेल के कैदियों को भी अच्छी सुविधाएं देती हैं, वहां की सरकार जेल के कैदियों को भी अपना नागरिक मानती है और उनकी खुशी को प्राथमिकता देती है.
यही नहीं देश में लेखक, साहित्यकारों को भी खास बढ़ावा दिया जाता है. जो भी साहित्यकार सामाजिक विषयों पर अच्छी पुस्तकें लिखते हैं, उसकी 1000 कॉपी नॉर्वे सरकार खरीदती है. इन कॉपियों को सरकार अपनी लाइब्रेरी में संग्रह करती है.
कुत्ते को घरों में बांधना भी गैरकानूनी
नॉर्वे का कोई नागरिक घरों में कुत्तों को बांधकर नहीं रख सकता है. नॉर्वे सरकार ने घरों में कुत्ते को बांधना भी गैरकानूनी कर रखा है.
सरकार का कहना है कि कुत्ता बहुत ही पालतू जानवर है. कुत्ते का मालिक के साथ भावनात्मक जुड़ाव होता है. इसलिए कुत्ते की खुशी का भी खास ध्यान रखा जाना चाहिए.
40 प्रतिशत पुरूषों के नाम ऑड और इवेन
नॉर्वे में पुरूषों का ऑड और इवेन के तर्ज पर नाम सबसे ज्यादा रखा जाता है. इन नामों को सुनकर शायद हंसी आए, लेकिन नॉर्वे में ये नाम हर 10 आदमी में 4 के सुनने को मिल जाएंगे.

world happiest village

पब्लिक ट्रांस्पोर्ट में यात्रा करना पंसद करते थे राजा 
नॉर्वे के राजा स्व. ओलाव पांचवे (1903-1991) बहुत ही साधारण जीवन जीते थे. राजा ओलाव पांचवे को दुनिया का सबसे सरल स्वभाव वाला राजा माना जाता है.
आपको जानकर हैरानी होगी राजा ओलाव पांचवे कहीं भी जाने के लिए राजशाही गाड़ियों का इस्तेमाल नही करते थे. बल्कि पब्लिक ट्रांस्पोर्ट से ही जाते थे और यात्रा का किराया भी  खुद ही देते थे. इसी वजह से वो प्रजा में खासे लोकप्रिय राजा थे.
हर नागरिक की आय सरकारी वेबसाइट पर अपलब्ध
इस देश में कोई भी नागरिक अपनी कमाई को छिपाता नहीं है. नॉर्वे सरकार ने एक ऐसी पारदर्शी व्यवस्था की है कि हर नागरिक को अपनी आय की जानकारी सरकार को देनी होती है, और इसके बाद हर नागरिक की आय को सरकारी वेबसाइट में अपलोड कर दिया जाता है, ताकि सभी लोग देख सकें.

world happiest country

डूबने के 40 मिनट बाद निकल आता है सूरज
नॉर्व एक ऐसा देश है जिसके उत्तरी भाग में मई से जुलाई करीब 76 दिनों तक सूरज कभी नहीं डूबता है. यहां 12 बजकर 43 मिनट पर सूरज छिपता है. आपको जानकर हैरानी होगी कि उसके बाद 40 मिनट बाद सूरज फिर निकल आता है. ऐसा अजब कारनामा सिर्फ नॉर्वे में ही आपको देखने को मिलेगा.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus