खुश रहने के मामले में पाकिस्तान और नेपाल से भी पीछे हैं हम भारतीय, जानें कौन सा देश है सबसे खुशहाल

World Health Day 2018
demo pic

World Happiness Report 2018 : खुशहाल  देशों की वैश्विक सूची में 133 वें स्थान पर है भारत

World Happiness Report 2018 : किसी भी देश का अमीर या हर तरह की सुख सुविधाओं से संपन्न होने का मतलब यह नहीं है कि वहां के लोग खुश भी हो.

कम पैसे वाली अर्थव्यवस्था होने पर भी देश के नागरिकों का खुश होने की संख्या शक्तिशाली देशों से कई गुना ज्यादा रहती है. हाल ही में आई संयुक्त भारत की रिपोर्ट का भी यही कहना है.
दरअसल हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अमेरिका का सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होने के बावजूद उसे World Happiness Report 2018 में खुशहाल देशों के टॉप 10 में भी जगह नहीं मिली है.
यह भी पढ़ें – भ्रष्टाचार की सूची में लुढ़का भारत, मगर प्रेस की आजादी में छवि बनी खराब
भारत का लुढ़का स्थान
वहीं अगर अपने देश भारत की करें तो बुधवार को जारी इस रिपोर्ट में हम खुशहाल वाले देशों की वैश्विक सूची में 133 वें स्थान पर हैं.
हैरान करने वाली बात तो यह है कि इस मामले में हम अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान और नेपाल से सिर्फ पीछे ही नहीं बल्कि बेहद दूर है.
बता दें कि पिछले साल के मुकाबले भारत को इस लिस्ट में 11 स्थानों का नुकसान हुआ है. जहां हमारा देश पिछले साल 122वें स्थान पर था वहीं इस साल ये 133 नंबर पर आ गया है.
वहीं आठ सार्क राष्ट्रों में से पांच रैंक की छलांग लगाकर पाकिस्तान 75 वें स्थान पर पहुंच गया जबकि नेपाल 101 पर भूटान 97, बांग्लादेश में 115 और श्रीलंका 116 पर है. वहीं भारत के अन्य पड़ोसी, चीन भी 86 वें स्थान के साथ हमसे आगे हैं.
156 देशों पर किए गए सर्वेक्षण में सर्वाधिक नाखुश वाले देश में बुरुंडी सबसे आखिरी स्थान पर है. इसके बाद केंद्रीय अफ्रीकन गणराज्य(155), दक्षिणी सूडान(154), तंजानिया(153) और यमन(152) का नंबर आता है.
गौरतलब है कि यह रिपोर्ट जीडीपी प्रति व्यक्ति, सामाजिक समर्थन, स्वस्थ जीवन प्रत्याशा, सामाजिक स्वतंत्रता, उदारता और भ्रष्टाचार की अनुपस्थिति जैसी चीजों के अनुसार 156 देशों के बीच रैंक की गई है.
यह भी पढ़ें – भारत के अंदर 2 साल में 26600 छात्रों ने करी आत्महत्या, संसद में पेश हुए आकड़े
फिनलैंड है दुनिया का सबसे खुशहाल देश
इस वार्षिक सर्वेक्षण ने पाया कि फिनलैंड सबसे खुशहाल देश है इसकी वजह वहां कड़ाके क ठंड का सामना करने के बावजूद, फिनलैंड में प्रकृति, सुरक्षी, चाइल्डकैअर, अच्छे स्कूलों और नि: शुल्क स्वास्थ्य सेवा के मामले में बहुत आगे है.
दूसरी ओर इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका जैसे महाशक्तिशाली देशों में लोग अमीर होने के बावजूद कम खुशहाल हो रहे है
बता दें कि इस बार के टाप 10 देशों में फिनलैंड, नॉर्वे, डेनमार्क, आइसलैंड, स्विटजरलैंड, नीदरलैंड कनाडा, न्यूजीलैंड, स्वीडन और ऑस्ट्रेलिया जगह बनाने में सफल हुए हैं. इनके अलावा ब्रिटेन 19वें और संयुक्त अरब अमीरात 20वें स्थान पर रहे है.