साइबर अटैक को रोकने के लिए फेसबुक,माइक्रोसॉफ्ट समेत 34 बड़ी कंपनियों ने मिलाया हाथ

Stalker Tracked Data Sending Whatsapp Images
demo pic

Anti Cyber Attacks Agreement : यूजर्स का डाटा लीक होने से बचाने के लिए कंपनियों ने मिलाया हाथ

Anti Cyber Attacks Agreement : इंटरनेट के जाल ने पूरी दुनिया को अपने वश में कर रखा है, आज शॉपिंग से लेकर पैसे ट्रांसफर, हेल्थकेयर यहां तक कि अपना डाटा भी लोग इंटरनेट पर स्टोर कर उसे सुरक्षित मान लेते हैं.

लेकिन दूसरी तरफ इंटरनेट पर बढ़ता लोगों का विश्वास, डाटा चोरी और साइबर अटैक से अब टूटता नजर आ रहा है.
साइबर अटैक और डाटा चोरी होने की इसी समस्या पर विचार करते हुए फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट और क्लाउडफेयर जैसी 32 बड़ी कम्पनियों के टेक्नोलॉजी और सिक्योरिटी ग्रुप ने एक साइबर सिक्योरिटी समझौते पर साइन किए हैं.
इस समझौते के तहत टेक्नोलॉजी के दुरुपयोग को रोका जा सकेगा और साथ ही यह समझौता साइबर अटैक से भी बचाने में मददगार साबित होगा.
आपको बता दें कि 34 कम्पनियों के ग्रुप द्वारा Cybersecurity Tech Accord नाम का एक एग्रीमैंट बनाया गया है, जिसमें दावा किया गया है कि पूरी दुनिया के यूजर्स को हैकिंग और साइबर अटैक से बचाया जाएगा.
साथ ही यूजर्स को साइबर अटैक से बचाने और सिक्योरिटी को सुधारने के लिए इसे बूस्ट भी किया जाएगा.
यह भी पढ़ें – Facebook Data Leak : जानें कैसे, फेसबुक हमारे निजी डाटा में सेंध लगाकर सियासी दलों को पहुंचा रहा फायदा
कैसे करेगा काम
इस एग्रीमेंट में शामिल सभी कम्पनियां आने वाले थ्रैट्स को एक-दूसरे के साथ साझा करेंगी. जिन पर विचार-विमर्श करके इन थ्रैट्स का समाधान निकाला जाएगा.
दरअसल कम्पनियों का कहना है कि इंटरनेट पर होने वाले साइबर अटैक से यूजर्स को सुरक्षा देना बहुत जरूरी है, इसलिए सभी कंपनियों ने इस बात को गंभीरता से लेते हुए साझेदारी में हाथ मिलाया है.
यही नहीं इस एग्रीमेंट से सभी यूजर्स भले ही किसी एक व्यक्ति, संगठन या सरकार की तकनीक को साइबर अटैक का खतरा हो उसे सुरक्षित रखने के लिए पूरा प्रयास किया जाएगा.
बता दें कि इस एग्रीमेंट में अन्य सिक्योरिटी फर्म्स भी सपोर्ट में हैं. फिलहाल यह कहना सही रहेगा कि साबइर अटैक को लेकर बनाया गया यह एग्रीमैंट शायद कुछ हद तक इस पर नियंत्रण पा सकेगा और यूजर्स का डाटा लीक होने से बचाया जा सकेगा.