Getting WiFi Fast Speed : वाई-फाई में नहीं मिलती है मनचाही स्पीड, तो पढ़ें ये जरूरी टिप्स

Getting WiFi Fast Speed

Getting WiFi Fast Speed : इन 5 तरीकों से आप अपने वाई-फाई की बढ़ा सकते हैं स्पीड

Getting WiFi Fast Speed : देशभर में इंटरनेट का चलन बहुत तेज़ी बढ़ा है और इस बढ़ते चलन के बीच लोगों में वाई-फाई लगवाने का ट्रेंड भी बढ़ता जा रहा है.

दरअसल आजकल अधिकतर लोग इंटरनेट के ज़्यादा इस्तेमाल और अच्छी स्पीड पाने के लिए घरों में और ऑफिस में वाई-फाई लगवाते हैं.
इनकी सुविधा के लिए ज़्यादातर इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर घर या ऑफिस में अपना मॉडेम लगा देते हैं जिससे उसके एक सीमित दायरे तक सभी डिवाइस पर इंटरनेट की सुविधा मिल जाती है.
लेकिन अक्सर लोगों की शिकायत रहती है कि इसमें जिस तरह की स्पीड की वो उम्मीद करते हैं वैसी उन्हें मिल नहीं पाती.
पढ़ें – WhatsApp चलाने वाले ध्यान दें, एक फोटो के जरिए हो सकती है आपकी जासूसी

 Getting WiFi Fast Speed

आज हम आपको इसका कारण और इससे जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाने के 5 तरीके बताएंगे.
1. लोग अक्सर वाई-फाई का मॉडम घर के किसी कोने में लगवा लेते हैं लेकिन ऐसा करने से वाई-फाई रेंज घट जाती है. वाई-फाई के कवरेज को बेहतर बनाने के लिए उसे कोने की जगह के घर के बीच में कहीं लगवाएं जिससे पूरे घर में इसका अच्छा कवरेज मिले.
इतना ही नहीं कोशिश करें कि वाई-फाई के मॉडेम को आई लेवल या उससे ऊंचाई पर रखें। ऐसा करने से सिग्नल स्ट्रेंथ बढ़ती है.
वहीं मॉडेम किसी दूसरे डिवाइस से प्रभावित ना हो इसके लिए ध्यान रखें कि अन्य डिवाइसेज़ जैसे कॉर्डलेस फोन, बेस स्टेशन्स, अन्य राउटर्स, प्रिंटर्स या माइक्रोवेब ओवन को मॉडेम से दूर रखें.
2. अगर आप घर आए मेहमान या दोस्त को अपने वाई-फाई का प्राइमरी पासवर्ड नहीं बताना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने राउटर में एक गेस्ट नेटवर्क इनेबल करें और उसका अलग पासवर्ड रखें.
आप जब चाहें इस गेस्ट नेटवर्क को डिसेबल भी कर सकते हैं. ऐसा करने से लोगों को आपका पासवर्ड पता नहीं चलेगा.
3. अगर ISP से मिला राउटर आपके पूरे घर में समान कवरेज नहीं देता है तो इसके लिए आपको अधिक पॉवरफुल राउटर लगाना होगा. हालांकि अगर आप नया राउटर नहीं खरीदना चाहते हैं तो रिपीटर का इस्तेमाल करें.
रिपीटर आपके वाई-फाई के सिग्नल्स को राउटर से प्राप्त करने के बाद इन्हें रिपीट करता है, जिससे कवरेज क्षेत्र बेहतर होता रहता है.
जानकारी के लिए बता दें कि आप अपने किसी भी पुराने राउटर को भी रिपीटर के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको कन्फिग्रेशन में थोड़ा बदलाव करना पड़ेगा.
पढ़ें – Gmail यूजर्स ध्यान दे, इस फीचर्स से आपकी निजी जानकारी लीक होने का है खतरा
4. अपने वाई-फाई के पासवर्ड को हर 6 महीने में बदलते रहें क्योंकि हो सकता है कि इस बीच आपका पासवर्ड कुछ लोगों तक पहुंच गया हो और वह भी आपके वाइ-फाई का इस्तेमाल कर रहे हों. ऐसा अगर हुआ तो आपकी डेटा लिमिट जल्दी खत्म हो जाएगी और आपको आपकी मनचाही स्पीड भी नहीं मिलेगी.
5. अगर आपके राउटर में USB पोर्ट है, तो आप उसमें एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव जोड़ सकते हैं. इसके ज़रिए सभी कनेक्टेड डिवाइसेज़ को कंटेंट शेयर करने में आसानी होगी. इतना ही नहीं इसे आप अपने प्रिंटर से भी कनेक्ट कर सकते हैं.