पीएम मोदी ने किया इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का शुभारंभ, जानें क्या मिलेंगी सुविधाएं

India Post Payment Bank Launch

India Post Payment Bank Launch : देश के 1.55 लाख डाकघरों को 31 दिसंबर 2018 तक आईपीपीबी प्रणाली से जोड़ लिया जाएगा.

India Post Payment Bank Launch : अब जल्द ही देश के कोने कोने में डाकिया अपने बैग में सिर्फ चिठ्ठी ही नहीं बैंक लेकर भी आएगा.

जी हां, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैग में स्मार्टफोन और उसमें बैंक लेकर आने वाले इस डाकिया यानि ‘इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक’ (आईपीपीबी) का शुभारंभ कर दिया है.
बता दें कि राजधानी दिल्ली में आयोजित उद्घाटन समारोह में इस चलते फिरते डाकिया बैंक की 650 शाखाएं और 3,250 डाकघरों में इसका एक्सेस सेंटर यानि सेवा केंद्र शुरू कर दी गई हैं.
पढ़ें 1 सिंतबर से देश में हुए ये 4 बड़े बदलाव,आपकी जेब पर पड़ रहा सीधा असर
डाकिया बैंक को लेकर बोले मोदी
पीएम मोदी ने आईपीपीबी को पेश किया और डाकिया डाक के साथ चलता फिरता बैंक लाने का स्लोगन देते हुए देश को बहुत बड़ा नजराना मिलने की बात कही.
मोदी ने कहा कि आईपीपीबी देश के अर्थतंत्र और सामाजिक व्यवस्था में बड़ा परिवर्तन करेगा.
गौरतलब है कि पहले भी सरकार ने जनधन के जरिये गरीबों को बैंक तक पहुँचाने का काम किया था और अब इस आईपीपीबी से सरकार फिर बैंक को गरीबों तक पहुंचाने का दावा कर रही है.
पीएम ने भारतीय समाज में डाकिये के महत्त्व का जिक्र करते हुए कहा कि भले ही सरकारों पर से लोगों का विश्वास डगमगाया होगा लेकिन डाकिये के प्रति कभी किसी का विश्वास एक इंच भी नहीं डगमगा सकता.
इसलिए सरकार ने यन्हीं डाकियों के कंधे पर  देश के हर गरीब तक, देश के कोने-कोने तक, दूर-दराज़ के पहाड़ों पर बसे लोगों तक, घने जंगलों के बीच रह रहे आदिवासियों के दरवाज़े तक बैंक और बैंकिंग सुविधा पहुंचाने का मार्ग खोला है.
यही नहीं पीएम मोदी का कहना है कि उनकी सरकार समय के साथ चलते हुए व्यवस्था में बदलाव में विश्वास रखती है, इसलिए पुरानी व्यवस्थाओं को रीफॉर्म करके डिजिटल इंडिया स्थापित किया जा रहा है.
इस कतार में जनधन खाते, वस्तु एवं सेवा कर आदि के बाद अब इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक भी जुड़ गया है.
पढ़ें – वीजा से जुड़े नए नियम जारी, भारतीयों का विदेश जाना अब हुआ आसान
आईपीपीबी की सुविधाएं
प्रधानमंत्री ने आईपीपीबी की मदद से डिजिटल लेनदेन की व्यवस्था को विस्तार देने की पहल की है जिसमें बचत खाता, चालू खाता, धन हस्तांतरण, बिल भुगतान, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण जैसी सुविधाएँ होंगी.
तीसरे पक्ष के सहयोग से आईपीपीबी कर्ज और बीमा भी दिया जाएगा. बता दें कि ये सभी सेवाएँ बैंक के काउंटर के अतिरिक्त डाक घर से भी दी जाएंगी.
ईपीपीबी को लोगों के लिए सुगम, किफायती और भरोसेमंद बैंक के रूप में तैयार किया जा रहा है. देश के हर कोने में फैले डाक विभाग के तीन लाख से अधिक डाकियों और ग्रामीण डाक सेवकों के फैले बड़े नेटवर्क से इससे बहुत लाभ मिलेगा.
आईपीपीबी की तरफ से मिलने वाली इन सुविधाओं और इससे जुड़ी कई अन्य संबंधित सेवाओं को बैंक के अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हुए बहु-विकल्प माध्यमों (काउंटर सेवाएं, माइक्रो-एटीएम, मोबाइल बैंकिंग एप, एसएमएस और आईवीआर) के जरिए उपलब्ध कराया जाएगा.
बता दें कि इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक को भारतीय डाक विभाग की तरफ से शुरू किया गया है. जिसमें सेविंग्स अकाउंट के साथ करंट अकाउंट खुलवाने की व्यवस्था की गई है.
इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक न सिर्फ आपको बचत खाते पर ज्यादा ब्याज देगा, बल्क‍ि यह आपको डोरस्टेप बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध कराएगा यानि घर पर बैठ कर ही बैंक खाता खुलवाया जा सकेगा.