इंटरनेट सर्फिंग करते वक्त अपने सिस्टम की सुरक्षा का ऐसे रखें ख्याल

Internet Surfing Security Tips
demo pic

Internet Surfing Security Tips : इंटरनेट सर्फिंग के दौरान वायरस से बचने के लिए बरतें सावधानी

Internet Surfing Security Tips : आजकल घर से लेकर ऑफिस तक सभी इंटरनेट का उपयोग करते है, लेकिन यह भी सच है कि इंटरनेट के जितने फायदे हैं उतने ही नुकसान भी हैं.

दरअसल कई बार इंटरनेट सर्फिंग करते वक्त हम ऐसी साइट पर पहुंच जाते हैं जो हमारे सिस्टम में वायरस के साथ अटैक कर देती हैं जिनके जरिए कई तरह से सिस्टम को हानि पहुंचती है.
इसलिए इंटरनेट सर्फिंग करते समय हमें बहुत सावधानी बरतनी चाहिए ताकि हमारे कंप्यूटर और पर्सनल डाटा सुरक्षित रह सके. आइए जानते हैं कि सर्फिंग करते वक्त हमें क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए….
1) इंटरनेट सर्फिंग करने से पहले मौजूदा ब्राउजर की सुरक्षा का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है, जिससे किसी भी तरह का वायरस आपके कंप्यूटर को नुकसान न पहुंचा सके.
बता दें कि कई साइट्स ऐसी होती हैं जो लुभावने विज्ञापन दिखाती है, और इन पर क्लिक करते ही सिस्टम में वायरस आ जाता है, इसलिए इन्हें नजरंदाज करना ही बेहतर है.
इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर में पॉप-अप हमेशा ब्लॉक करके रखना चाहिए. इस तरह थर्ड पार्टी साइट आपके कंप्यूटर या  लैपटॉप को नुकसान नहीं पहुंचा पाएगी. साथ ही आपके सिस्टम का डाटा भी अनचाही साइट से सुरक्षित रहेगा.
यह भी पढ़ें – Gmail New Update : गूगल ने जीमेल के फीचर्स में किए कई बदलाव , जानें क्या है अपडेट
2) इंटरनेट के जरिए आने वाले वायरस से सिस्टम को बचाने के लिए फिशिंग फिल्टर का इस्तेमाले करें. ऐसा करने के लिए आपको अपने इंटरनेट एक्सप्लोरर पर फिशिंग फिल्टर को ऑन करना होगा.
जिससे हर ओपन होने वाली साइट या पेज के फालतू पॉप-अप साइटों को ऑटोमेटिक ब्लॉक कर सकें जिससे आपका डाटा सुरक्षित रह सके.
3) कई बार नेट सर्फिग के दौरान आपके कंप्यूटर को हानिकारक वॉयरस से बचाने का दावा करने वाले पॉपअप भी आते रहते हैं.
ये आपके कंप्यूटर को खतरे में बताते हुए एंटीवॉयरस प्रोग्राम मुफ्त डाउनलोड करने का लुभावना ऑफर देते हैं. इन पर बिल्कुल भरोसा न करें क्योंकि फ्री ऑफर में ये आपके कंप्यूटर के हार्डडिस्क, और महत्वपूर्ण फाइलों पर अटैक कर सकते हैं.
4) सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने या किसी ऑनलाइन प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए कई बार यूजर से उनकी व्यक्तिगत सूचानाएं मांगी जाती है.
ऐसे में ध्यान दें कोई फार्म भरते समय आप किसी को इंटरनेट पर अपनी व्यक्तिगत सूचनाएं उपलब्ध न कराएं, क्योंकि हो सकता है कि आप साइबर अपराधी के निशाने पर हों.
अपनी निजी जानकारी जैसे क्रेडिट कार्ड, बैंक का पिन कोड या पासवर्ड देने से ये आपको बड़ी आर्थिक हानि से भी गुजरना पड़ सकता है.
यह भी पढ़ें  – जानिए लैपटॉप में बैटरी बैकअप कम होने का कारण, और इससे बचने का उपाय
5) इंटरनेट सर्फिंग के दौरान अक्सर लोग अपने पसंदीदा चीजों को खोजने में समय बिताते हैं. इन पसंदीदा चीजों को खोजने के चक्कर में लोग धोखे का शिकार हो जाते हैं.
दरअसल कई बार गूगल की गलत स्पैलिंग या एमएसएन से मिलते-जुलते नाम से धोखा देते सर्च इंजन भी सर्फिग के दौरान हानि पहुंचाने का काम कर सकते हैं, इसलिए इनसे बचाव करना चाहिए.