इसरो ने GST-29 सैटेलाइट किया लांच, जम्मू कश्मीर और नार्थ ईस्ट राज्यों को मिलेगा फायदा

ISRO Launch GSAT-29 Sattelite

  ISRO Launch GSAT-29 Sattelite : दूर-दराज इलाकों में इंटरनेट पहुंचाने में मिलेगी मदद

ISRO Launch GSAT-29 Sattelite : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के वैज्ञानिकों ने आज यानि की बुधवार को अंतरिक्ष में एक और नया कीर्तिमान रच दिया है.

इसरो वैज्ञानिकों ने आंध्रपदेश के श्रीहरिकोटा से 5 बजकर 8 मिनट पर GST-29 नाम के संचार उपग्रह का सफल प्रक्षेपण किया.
बता दें कि इस उपग्रह का कुल वजन 3,423 किग्रा है जिसे प्रक्षेपण यान जीएसएलवी-एम-के3-डी2 के जरिए सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के लांच पैड से प्रक्षेपित किया गया.
गौरतलब है कि श्रीहरिकोटा से लांच होने वाला ये 76 वां और इस साल का 5वां सबसे बड़ा उपग्रह है.
पढ़ें स्पेस बिजनेस के तहत ISRO ने PSLV C-42 के साथ लांच किए दो ब्रिटिश सैटेलाइट, मिली बड़ी कामयाबी
लांचिंग के बाद इसरो चेयरमैन शिवन ने टीम को बधाई देते हुए कहा कि “इस सफलता का श्रेय उन वैज्ञानिकों को मिलना चाहिए जो इस लांचिंग टीम के सदस्य थे. मैं इस अद्भुत उपलब्धि के लिए पूरी टीम को बधाई देता हूं“.
इसरो के मुताबिक GST-29 लांच होने के बाद यह पृथ्वी से लगभग 36 हजार किमी दूर जियो स्टेशनरी ऑर्बिट में स्थापित हो जाएगा.

http://

इस वजह से है खास

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ये उपग्रह भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, ये पूरी तरह से स्वदेशी है क्योंकी इसका निर्माण भारत में ही किया गया है.
यह सेटेलाइट पूरे समय भारत के ऊपर रहेगा और जैसे-जैसे धरती घूमेगी वैसे-वैसे यह सेटेलाइट भी घूमता रहेगा.
सैटेलाइट का कैमरा इसे पुराने उपग्रहों से काफी अलग बनाता है. इसकी क्वालिटी इतनी अच्छी है कि हम इसकी मदद से कहां क्या गतिविधि हो रही है इस पर आसानी से नजर रख सकेंगे.
इस यूनिक किस्म के हाई रेज्यूलेशन कैमरे को जियो आई नाम दिया गया है.
पढ़ें – सूरज को करीब से जानने के लिए नासा का अंतरिक्ष यान लांच, जानें कैसे है ये खास
क्या होगा फायदा
यह एक कम्युनिकेशन सेटेलाइट है इसकी बदौलत से हम जम्मू कश्मीर और नॉर्थ ईस्ट राज्यों पर निगरानी रखने में ज्यादा सक्षम हो जाएंगे.
साथ ही भारत के दूर दराज इलाकों में इंटरनेट की सेवा पहुंचाने में भी ये बड़ा कारगार साबित होगा.