डेंगु और स्वाइन फ्लू की चपेट में देश के बड़े शहर, जानिए क्या कहते हैं आकड़ें

Dengue & Swine Flu Patients Increasing Report
demo pic

Dengue & Swine Flu Patients Increasing Report : महाराष्ट्र, राजस्थान और गुजरात में स्वाइन फ्लू से 778 लोगों की मौत

Dengue & Swine Flu Patients Increasing Report : कहा जाता है कि स्वास्थ्य अच्छा तो सब अच्छा, इस कथनी पर मंथन करके ही शायद केंद्र से लेकर राज्यों की सरकारें इंसानी सेहत से जुड़ी कई योजनाओं को लागू करती हैं.

सरकार द्वारा आयुष्मान भारत, स्वास्थ्य बीमा और कई ऐसी योजनाएं इसका बेहतर उदाहारण है जिनपर फु्र्ती से सरकारी पैसा खर्च  किया जाता है.
लेकिन फिर भी सब ओर स्वास्थ्य बेहतर होने की बजाए बीमारियां कम होनी की बजाए अधिक तेजी से बढ़ती जा रही हैं. किसी जगह डेंगू का प्रकोप है तो कहीं स्वाइन फ्लू लोगों को मृत्यु की गोद में खींच रहा है.
हाल ही में एक स्वास्थ्य रिपोर्ट ने देश की राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुबंई जैसे बड़े शहरों में बीमारियों से होने वाली मौतों के आंकड़ों का खुलासा किया है. आइए जानते हैं क्या कहते हैं आंकड़े.
पढ़ें – महिलाओं में आम होता जा रहा है सिस्टाइटिस , जानें इसके लक्षण और बचाव
दिल्ली में डेंगू का गहराता प्रकोप
एमसीडी के पब्लिक हेल्थ विभाग द्वारा जारी होने वाली वीकली रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी में इस साल औसतन एक हफ्ते में डेंगू के 190 नए मामले सामने आए हैं. इन मामलों के साथ दिल्ली में डेंगू के केस बढ़कर 1020 तक पहुंच गए हैं.
डेंगू के साथ मलेरिया ने भी बड़ी तादात में मरीजों को अपनी चपेट में ले रखा है, बता दें कि यहां मलेरिया के 26 नए केस सामने आए हैं जिसके बाद मलेरिया के रोगीयों की कुल संख्या 411 हो गई है.
यही नहीं पिछले एक हफ्ते के दौरान चिकनगुनिया के भी 12 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद इस बीमारी से मरीजों की संख्या बढ़कर 109 तक पहुंच गई है. वहीं स्वाइन फ्लू के 12 अक्टूबर तक 111 मामले सामने आए हैं.
  मुंबई में स्वाइन फ्लू का खतरा
रिपोर्ट के मुताबिक स्वाइन फ्लू के कारण देश में इस साल अब तक 542 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें तकरीबन 50 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र से हैं.
बता दें कि 14 अक्टूबर तक 1793 मामलों में से महाराष्ट्र में 217 मौत का आंकड़ा दर्ज किया गया है. स्वाइन फ्लू से होने वाली सबसे अधिक मौतों में महाराष्ट्र को पहले स्थान पर रखा गया है.
पढ़ें – भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं हृदय रोग के मरीज, कैंसर और मधुमेह भी बना घातक
अन्य राज्यों में मंडराती बीमारियां 
स्वाइन फ्लू जैसे गंभीर रोग के आंकड़ों के चलते महाराष्ट्र के बाद दूसरे नंबर पर राजस्थान है जहां एच1एन1 के 1912 मामलों में से 191 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं गुजरात ने स्वाइन फ्लू से 1478 मामलों में से 45 लोगों को मौत की नींद सुला दिया है.
बहुत ही हिला देने वाली बात है कि देश में इस साल अब तक स्वाइन फ्लू के लगभग 6,803 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 38,811 था. इसके अलावा एच1एन1 वायरस से पिछले साल 2,270 लोगों ने अपनी जान से गंवीई थी.
गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने हाल ही में देश में मौसमी इन्फ्लूएंजा के प्रकोप की स्थिति की समीक्षा की थी. जिसे देखते हुए नड्डा ने मामलों की लागातार निगरानी सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया है.