बेंगलुरु में खुला भारत का पहला बिटकॉइन एटीएम, जानें कैसे होगी खरीद-बिक्री

India First Bitcoin ATM
Pc- News18

India First Bitcoin ATM : बेंगलुरू के पुराने हवाई हवाई अड्डा पर लगा देश का पहला ऐसा एटीएम

India First Bitcoin ATM : दुनिया भर में क्रिप्टो करेंसी को लेकर चल रहे विवादों के बीच भीरत में पहला बिटकॉइन एटीएम खोल दिया गया है. 

यूनिकॉन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने बेंगलुरू में देश का पहला बिटकॉइन एटीएम खोला है जिसे बैंगलुरू के पुराने हवाई अड्डे पर लगाया गया है.
यह एटीएम मशीन ट्रेडिंग और एक्सचेंज प्लेटफॉर्म की तरह से काम करेगा, हालांकी सबसे पहले यह कस्टमर को वैरिफाइ करेगा इसके बाद आगे की प्रोसेस शुरू होगी. एटीएम के जल्द शुरू होने की उम्मीद है.
पढ़ें BITCOIN : जानिए कौन सी बला है ये बिटकॉइन, क्या हैं इसके फायदे नुकसान
 कैसे करेगा काम 
बिटकॉइन एटीएम भी आम एटीएम जैसा ही है इससे यूजर्स रिफरेंस नंबर और ओटीपी से जरिए कैश निकाल सकेंगे .हालांकि इसमें क्रिप्टो करेंसी की ट्रेडिंग के हिसाब से कुछ बदलाव किये गए हैं.
बता दें कि बिटकॉइन एटीएम से नकदी निकालने के लिए ग्राहकों को सबसे पहले यूनोकॉइन की बेवसाइट या मोबाइल ऐप पर रिक्वेस्ट सेंड करना होगा.
ऐसा करने के बाद यूजर के पास 12 अंकों का एक रेफरेंस नंबर भेजा जाएगा जिसके  जरिए आप बिटकॉइन एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं.
गौरतलब है कि यूनोकॉइन ईथरियम और यूनोडेक्स रिपल और लाइनकॉइन समेत 30 दूसरी क्रिप्टोकरेंसी में डील करता है और भारत में इसके 13 लाख ग्राहक हैं.
यूनोकॉइन और इसकी यूनिट यूनोडेक्स के ग्राहक हर रोज एटीएम से 500  रुपये मूल्य के नोटों में 1,000 से 10,000 रुपये तक कैश जमा कर सकते हैं या निकाल सकते हैं.
यूनिकॉन के फाउंडर सथविक विश्वनाथ का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी पर वित्त मंत्रालय द्वारा जारी नोटिस “क्रिप्टोक्रांस की वैधता” के बारे में कोई बात नहीं करी गई है इसलिए भारत में बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टो करेंसी की वैधता पर यथास्थिति बनी हुई है.
गौरतलब है कि फरवरी में केंद्र सरकार ने बैंकों और वित्तीय संस्थाओं को बिटकॉइन नेटवर्क का हिस्सा बनने से रोक दिया.
पढ़ें – सड़कों को रोशन करने के लिए आसमान में तीन ‘नकली चांद’ लटकाएगा चीन
सरकार के इस फैसले के बाद केवल वही लोग भारतीय बिटकॉइन की खरीद बिक्री कर पा रहे थे जिनके पास विदेशी बैंकों में खाता है या उनका कोई रिश्तेदार विदेश में रह रहा हो.
हालांकि इक बारे में बैंक के एक सीनियर अधिकारी का कहना है कि बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी पर भ्रम अभी भी मौजूद है और इसका बिजनेस करने वाले लोग जोखिम में रहेंगे.