खेत-खलिहान से लेकर सुरक्षा तक भारत का सच्चा साथी है इजरायल

India Israel Defence Deal Relation

India Israel Defence Deal Relation : सैन्य से लेकर खेती और अन्य तकनीक में सालों से करता आया है भारत की मदद

India Israel Defence Deal Relation : पीएम मोदी ने जबसे सत्ता संभाली है भारत की छवि पूरे विश्व में एक उभरते आर्थिक और शक्तिशाली देश के रूप में बन गयी है. ऐसे में कई भारत का साथ देने के लिए उससे हाथ मिला रहे तो कई नए दुश्मन भी सामने हैं.

पीएम मोदी की विदेश नीतियों के चलते आज भारत के पास अमेरिका, रूस समेत कई बड़े देशों के हथियार हैं. अब इसी बीच आप यह भी जान लीजिये कि भारत इजरायल से नए हथियारों का सौदा करने वाला है.
इजरायल से खरीदेगा डिफेंस सिस्टम
भारत ने बुधवार को इजरायल की प्रमुख सरकारी रक्षा कंपनी के साथ  जमीन से हवा में मार करने वाली लंबी दूरी की बराक-8 मिसाइलों और मिसाइल रक्षा प्रणाली को खरीदने का सौदा किया है.
इजराय एरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) भारतीय नौसेना के सात पोतों के लिए एलआर-एसएएम और हवाई मिसाइल रक्षा प्रणाली (एएमडी), एएमडी प्रणाली बराक-8 के समुद्री संस्करण की आपूर्ति करेगी.
पढ़ें – समाज सुधार के लिए पीएम ने लांच किया “मैं नहीं हम” ऐप, जानें क्या है इसका काम
India Israel Defence Deal Relation
demo pic
तो ऐसे हुआ भारत को इजराइल पर भरोसा 
कारगिल युद्ध के दौरान जब भारत भारी संकट में था तो इजराइल ने ही भारत की मदद की थी. उस समय भारत की एक आवाज़ पर इजराइल ने मानव रहित वाहन और लेजर गाइडेड बम भी दिए थे.
मौजूदा समय में भारत इजराइल के दिए हुए एडवांस सिस्टम से बॉर्डर्स की रक्षा करता है और इजराइल निर्मित 176 ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रहा है.
कुछ ऐसा रहा है भारत-इजराइल का रिश्ता 
भारत और इजराइल हमेशा से ही काफी जुड़े हुए रहे, जवाहरलाल नेहरू के समय में भारत जब फिलिस्तीन से करीबी बना रहा तो इजराइल अलग होने लगा. बाद में भारत ने ही इजराइल की मदद की थी और 1950 में उसे एक स्वतंत्र देश के रूप में स्वीकारा.
इसके बाद 1962 का भारत-चीन युद्ध हो या 1965 और 1971 में पाकिस्‍तान युद्ध रहा हो इजराइल ने तीनों में भारत का पक्ष लिया. इतना ही नहीं इजराइल पहला ऐसा देश था जिसने 1971 में भारत-पाकिस्‍तान युद्ध के बाद बांग्‍लादेश को मान्‍यता दी थी।
सैन्य सामन में करता है भारत की मदद 
दुनिया में इजराइल के सैन्य सामान का लोहा माना जाता है और इजराइल ने भारत को एक से बढ़कर एक हथियार दिए हैं.
इस समय भारत और इजराइल के बीच करीब 100 अरब का सालाना सैन्य सामान साझा किया जा रहा जिससे रिश्ते और मजबूत होते दिख रहे हैं.
फिलहाल यह आने वाले वक़्त में पता लगेगा कि दोनों देशों का रिश्ता कहाँ तक जाता है लेकिन मौजूदा हालात के अनुसार इस समय भारत-इजराइल की दोस्ती चरम पर है. 
पढ़ें – क्या होगा जब अमेरिका और रूस के बीच टूट जाएगी INF परमाणु संधि

India Israel Defence Deal Relation

किसानों की भी कर रहा मदद
दुनिया में इजरायल जैसे कुछ ही देश हैं जहां किसानों की हालत दयनीय नहीं है. खेती किसानी में इस्तेमाल होने वाले बेहतरीन उपकरण और फसलों की उम्दा नीति के मामले में इजरायल को दुनिया का सबसे हाईटेक देश माना जाता है.
इजरायल ने रेगिस्तान में ओस से सिंचाईदीवारों पर गेहूंधान उगाने जैसे खेती में कई ऐसे कारनामे किए हैं जो बाकि देशों के किसानों के लिए एक सपना सा है.
खेमाराम ने खेती में अपने तकनीक और ज्ञान का ऐसा तालमेल भिड़ाया कि वो आज देश के लाखों किसानों के लिए एक उदाहरण बन गए हैं.
दरअसल खेमाराम चौधरी को सरकार की तरफ से कुछ साल पहले इजरायल जाने का मौका मिला था. जहां उन्होंने उस देश के किसानों से खेती के अत्याधुनिक उपकरणों और तौर- तरीकों के बारे में जानकारी ली.
इजरायल से वापस आने के बाद खेमाराम ने भी अपने खेतों में उसी तकनीक का इस्तेमाल किया और आज उनका सालाना मुनाफा करोडों मे पहुंच गया है.