सलाम ! गांव के बच्चों को स्कूल भेजने के लिए खर्च कर दी अपनी पूरी कमाई

Karnataka Man Spend Money Rebuild Bridge

Karnataka Man Spend Money Rebuild Bridge : नदी पर पुल टूटने के कारण बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ दिया था

Karnataka Man Spend Money Rebuild Bridge : किसी भी बेहतर समाज के लिए बच्चों की शिक्षा कितनी जरूरी है इस बात से शायद ही कोई अंजान हो,फर्क इतना है कि कोई इसे आगे बढ़ाने के लिए प्रयासरत रहता है तो कोई सरकार का काम बताकर अपना पल्ला झाड़ लेता है.

एक कारणवश अपने गांव के बच्चों को स्कूल छोड़ता देख, छोटी सी दुकान चलाने वाले बालकृष्ण को इतना बुरा लगा कि उन्होंने अपनी सारी बचत उस परेशानी को खत्म करने में लगा दी ताकि बच्चों के स्कूल जाने का सपना ना टूटे.
कर्नाटक के बेल्थांगडी जिले के शिशिला में 32 वर्षीय बालकृष्ण एक छोटी सी दुकान चलाते हैं. एक रोज जब उन्हें पता चला कि गांव की नदी पर बना पुल टूट गया है तो उन्हें इसका बहुत दुख हुआ.
पढ़ें – केरल के सरकारी कॉलेज मे एकमात्र ट्रांसजेंडर छात्रा के लिए बनाया गया अलग टॉयलेट
इसकी सबसे बड़ी वजह यह थी कि ये गांव की नदी पर बना एकमात्र पुल था जिसके सहारे बच्चे दूसरे गांव स्कूल में पढ़ने के लिए जाते थे.
यही बात बालकृष्ण पचा नहीं पा रहे थे फिर उन्होंने अपनी सारी बचत खर्च करके पुल को दोबारा बनाने का फैसला किया.

Karnataka Man Spend Money Rebuild Bridge

बता दें कि बालकृष्ण को भी पारिवारिक परिस्थितियों के कारण कक्षा 7 में अपना स्कूल छोड़ना पड़ा था इस वजह से वो नहीं चाहते कि उनकी तरह गांव के फिर किसी बच्चे को स्कूल बीच में ही छोड़ना पड़े .
सिर्फ बच्चे ही नहीं 15 से अधिक परिवारों का जीवन भी इस पुल पर निर्भर करता हैं क्योंकी इसी के माध्यम से वो अपना व्यापार करने के लिए दूसरे गांव जाते हैं.
अंग्रेजी वेबसाइट ‘द न्यूज मिनट में छपि रिपोर्ट के मुताबिक इससे पहले एर्का स्टंप और अन्य अस्थायी ढांचे से पुल को किसी तरह काम चलाने लायक बनाया गया था. लेकिन भारी बारिश के कारण ये टिक नहीं पाया और जर्जर होकर गिर गया.
इसके बाद गांव वालों ने पंचायत और अन्य ब्लॉक अधिकारियों से बातचीत भी की लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी.
जब कहीं से कोई मदद नहीं मिली तो जुलाई महीने में 10 अन्य लोगों की मदद से बालकृष्ण ने नदी के पार करने के लिए एक पुल का निर्माण किया जिसकी उंचाई 15 मीटर और लंबाई 35 मीटर है.
पढ़ें शासन ने नहीं करी मदद तो घर बेचकर मजदूर की पत्नी ने बनवा दी सड़क

Karnataka Man Spend Money Rebuild Bridge

गौरतलब है कि ये ब्रिज अब पूरे गांव वालों के लिए एक वरदान साबित हो गया है, क्योंकी गांव के दूसरी तरफ जाने के लिए सबको पानी में घुसने के लिए मजबूर होना पड़ता था.
इस उम्दा काम के लिए बालकृष्ण को स्थानीय लोगों द्वारा नायक के रूप में सम्मानित किया गया है. वहीं अभी भी पुल बनाने में लगे खर्चे को लेकर अधिकारी और पंचायत को जवाब नहीं दे रही.