वोडाफोन की अनूठी पहल, बिना इंटरनेट और बैलेंस महिलाओं की करेगी सुरक्षा

Vodafone Launch Women Security Service Sakhi

Vodafone Launch Women Security Service Sakhi : संकट के समय महिलाओं की रक्षा करेगी ये सेवा

Vodafone Launch Women Security Service Sakhi : भारत में महिलाओं की सुरक्षा एक गंभीर चुनौती बनती जा रही है, ऐसे में इससे निपटने के लिए समय समय पर सरकार से लेकर हर क्षेत्र की कंपनियां इनकी सुरक्षा को लेकर प्रयास करती रहती हैं.

इसी क्रम में आज बुधवार को वोडाफोन-आइडिया मोबाइल आपरेटर कंपनी ने महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ‘वोडाफोन सखी‘ सेवा की शुरूआत करी है.
इस सेवा के तहत किसी भी खतरे के महसूस होने या गंभीर जरूरत पड़ने पर महिलाएं बिना इंटरनेट और बैलेंस के 10 लोगों को अपने मोबाइल से अलर्ट भेज सकेंगी.
कंपनी के बयान के मुताबिक इस सेवा को वोडाफोन के सभी कस्टमर्स के लिए आज से शुरू कर दिया गया है, और आइडिया ग्राहकों को भी जल्द इससे रूबरू करा दिया जाएगा.
पढ़ें – दुनिया भर में सबसे ताकतवर है जापान का पासपोर्ट, जानें भारत का हाल
कैसे भेज सकती हैं अलर्ट
इस नई सेवा के बारे में वोडाफोन-आइडिया लिमिटेड के ग्राहक-कारोबार के निदेशक अवनीश खोसला ने बताया कि यह सेवा फीचर और स्मार्ट दोनों तरह के फोन पर निशुल्क उपलब्ध रहेगी.
इसके तहत संकट के समय महिलाएं अपने कॉन्टेक्ट लिस्ट में स्टोर किसी भी 10 लोगों को अलर्ट भेज सकेंगी.
इसके लिए महिला को केवल एक नंबर 5500 पर कॉल करना होगा जिसके बाद अलर्ट के साथ महिला का लोकेशन उन सभी संबंध लोगों तक पहुंच जाएगा.
यही नहीं ऐसी परिस्थितियों में फोन में बैलेंस नहीं रहने पर भी वे दस मिनट तक बात कर सकेंगी.
ऐसे करें एक्टिवेट
वोडाफोन महिला यूजर्स इस सेवा का लाभ लेने के लिए 1800123100 टॉल फ्री नंबर पर कॉल करें और इसे निशुल्क एक्टिवेट करें.
वहीं सखी सेवा को अपनाने वाली महिलाओं को 10 अंकों का एक प्रॉक्सी नंबर उपलब्ध कराया जाएगा, जिसके जरिए वे अपना रिचार्ज भी घर बैठे करा पाएंगी.
पढ़ें – दशहरा से पहले रेल कर्मियों के खाते में पहुंचेगें बोनस के इतने रूपए
पीवी सिंधु ने किया सेवा लांच
इस सेवा को भारत की मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी और ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु के हाथों शुरू कराया गया.
सिंधु ने इस सेवा को लांच करने के दौरान कहा कि मोबाइल ने वास्तव में लोगों के इन्टरैक्ट करने के तरीके को पूरी तरह से बदल डाला है.
इस बारे में मेरा मानना है कि महिलाओं को मोबाइल कनेक्शन के फायदे उपलब्ध कराकर उनकी सुरक्षा से जुड़ी समस्याओं को हल किया जा सकता है.