इस MBBS छात्र की कोशिशों से राजस्थान के गांव में 22 साल बाद आई कोई दुल्हन

Rajasthan Rajghat Village Marriage

Rajasthan Rajghat Village Marriage : MBBS छात्र अश्विनी की कोशिशों से ही गांव की बदली तस्वीर 

Rajasthan Rajghat Village Marriage : आजकल के युवा अपना ज्यादातर समय सोशल मीडिया पर बिताते हैं, जिसकी शिकायत भी हमने अक्सर हर माता -पिता को करते सुना होगा.

लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि आज के दौर में यही सोशल मीडिया समाज में ना जाने कितने बदलाव लाने का एक बेहतर जरिया बन रहा है.
राजस्थान के ढोलपुर के 22 वर्षीय एमबीबीएस छात्र अश्विनी पराशर ने राज्य के राजघाट गांव में रहने वाले लोगों के जीवन में आशा लाने के लिए सोशल मीडिया पर #SaveRajghat नाम के एक अभियान की शुरूआत करी थी.
इस अभियान का मुख्य मकसद गांव में रहने वालों लोगों तक मूलभूत सुविधाओं का लाभ पहुंचाना था.
यह भी पढ़ें – भारत का एकमात्र ऐसा गांव जहां हर घर में इंजीनियर और हर व्यक्ति बोलता है संस्कृत

Rajasthan Rajghat Village Marriage

कहां से हुई शुरूआत
दरअसल 2 साल पहले पराशर पहली बार राजघाट दिवाली के मौके पर गए थे तब उनका उद्देश्य वहां के गरीब लोगों को त्यौहार के मौके पर तोहफे देना था.
लेकिन वहां जाकर जब उन्होंने देखा कि गांव में ना बिजली , ना पानी, ना स्कूल और ना ही शौचालय का नामोनिशान देखा तब उन्होंने इसे बदलने की ठान ली.
गांव में इस परिवर्तन के लिए सबसे पहले जरूरी था कि लोगों की मुश्किलों को सरकारी अफसरों तक पहंचाई जाए ताकि गांव को सरकारी योजनाओं का फायदा मिल सके जिसकी उन्हें सबसे ज्यादा जरूरत है.
इसके लिए वह लगातार मुख्यमंत्री, पीडब्ल्यूडी मंत्री और यहां तक की पीएम मोदी को पत्र लिखकर इस बारे में बताते रहे फिर एक दिन जाकर आखिरकाल जिला क्लेकटर ने उनकी मदद करने की पेशकश करी.
यही नहीं अश्विनी की अभियान की बदौलत आज ना सिर्फ सरकार की तरफ से बल्कि देश के बाहर से भी उन्हें गांव में विकास के लिए मदद मिल रही है.
मध्यम वर्ग से आने वाले पराशर की इस नेक काम को लेकर सीधी सोच है कि समाज के लिए अच्छा करना अपने आपके लिए अच्छा करना होता है.
पराशर ने कहा, ‘जब मुझे पता चला कि मेरे छोटे प्रयासों के कारण कोई मुस्कुरा रहा है, तो मुझे ऐसी खुशी का अहसास हुआ जिसके बारे में मैं व्यक्त नहीं कर सकता.
यह भी पढ़ें – टीवी शोज का सफल कैरियर छोड़ बिहार के अपने गांव में खेती करने पहुंच गया ये एक्टर
गांव में 22 साल बाद हुई कोई शादी
राजघाट गांव के लोगों को उनकी कोशिशों की बदौलत ही सालों बाद खुशी मानाने का मौका भी मिल गया. दरअसल, यहां 22 साल बाद किसी लड़के की शादी हुई है और घर में नई दुल्हन आई है.
29 अप्रैल को गांव के पवन कुमार की शादी मध्य प्रदेश की लड़की से हुई, बता दें कि इन 22 सालों में पवन पहला शख्स है जिसकी शादी हुई और दुल्हन गांव में आई है.
दरअसल, राज्य के कई इलाके ऐसे हैं जहां मूलभूत सुविधाओं की कमी है और ऐसी ही कमी से कुछ समय पहले तक जूझता था धौलपुर का राजघाट जहां पानी, बिजली और सड़क किसी तरह की सुविधा नहीं थी.
ऐसे में लोग यहां अपनी बेटी ब्याहना नहीं चाहते थेयही वजह थी कि इससे पहले गांव में आखिरी शादी 1996 में हुई थी.
अश्विनी की कोशिशों के चलते पिछले तीन साल से गांव तक कच्ची सड़क बनी है वहीं गांव वालों को सोलर लैंप भी मिले हैं जिससे अब उनकी रातें अंधेरे में नहीं कटती.
इसके अलावा पीने के पानी के लिए आरओ मशीन भी लगाई गई है ताकि लोग वहां साफ पानी को पी सकें.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus