2020 तक देश में आधे इंटरनेट उपयोगकर्ता ग्रामीण रहेंगे-बीसीजी

भारत में साल 2020 तक इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले लोगों में ग्रामीण क्षेत्र की हिस्सेदारी आधी हो जाएगी. जबकि 2020 तक ही 40 प्रतिशत महिलाएं इंटरनेट का इस्तेमाल करने लगेंगी .
बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि ग्रामीण भारत इंटरनेट के विकास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनता जा रहा है. रिपोर्ट की माने तो दिसंबर 2016 में अनुमानित 26.9 करोड़ शहरी इंटरनेट उपयोगकर्ता थे,जबकी ग्रामीण भारत में ये आकड़ा 16.3 करोड़ था. वर्तमान में शहरी भारत में करीब 60% इंटरनेट का उपयोग है जबकि ग्रामीण भारत में केवल 17% है.
‘इंटरनेट और मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया’ ने अपने एक अनुमान में कहा है कि भारत में 2025 तक 85 करोड़ से अधिक ऑनलाइन उपयोगकर्ता हो जाएंगे. जो की जी 7 देशों की संयुक्त आबादी की तुलना से भी अधिक हैं .
“बीसीजी ने ‘डिकोडिंग डिजिटल उपभोक्ताओं’ पर अपनी इस रिपोर्ट में कहा है कि देश में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या में वृद्धि के परिणामस्वरूप देश में डिजिटल कॉमर्स की मात्रा में भी भारी वृद्धि देखने को मिलेगी.
साल 2014 से 2016 के बीच भारत में ऑनलाइन खरीददारों की संख्या 8 लाख से 9 लाख के बीच थी.वर्तमान में ये कारोबार 50 अरब डॉलर तक पहुंच गया है.
बीसीजी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारत में खरीददारी ,पढ़ाई, बचत, बिक्री, सामाजिककरण की गतिविधियां पहले से मौजूद थी. मगर भारतीय कंपनियों ने देश की डिजिटल क्षमता को कम करके देखा.
साभार- इकोनॉमिक्स टाइम