भारत का ये पड़ोसी देश दहेज प्रथा के खिलाफ चला रहा एक बेहद खास मुहीम, जानना नहीं चाहेंगे

Pakistan Anti Dowry Campaign
demo pic

Pakistan Anti Dowry Campaign :पाकिस्तान में कुछ ऐसा हुआ है जिसने दहेज के लोभियों की नाक में दम कर रखा है.

Pakistan Anti Dowry Campaign : भारत और पाकिस्तान कहने को तो इन दोनों देशों में बड़ी दुश्मनी है लेकिन एक चीज के मामले में दोनों एक ही सोच रखते हैं, वो है दहेज प्रथा   

बात चाहे अमीर घरों की हो या गरीब से गरीब हर किसी को दहेज की मार झेलनी ही पड़ती है और हर लड़की के पिता को इसकी चिंता अपनी बच्ची के जन्म के बाद से ही सताने लगती है. 
ऐसे में हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में कुछ ऐसा हुआ है जिसने दहेज के लोभियों की नाक में दम कर रखा है.
दरअसल पाकिस्तान के युवाओं ने अब दहेज के खिलाफ ज़ोरदार कदम उठाया है जो अब दुनियाभर मे खासकर पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर एक ट्रेंड बन गया है. 
बीते 19 दिसंबर को पाकिस्तान के एक इंस्टाग्राम पेज पर मेहंदी के डिज़ाइन में लिखा गया कि दहेज खोरी बन्द करो.

पोस्ट करने वाले पेज ओनर व यूएन वुमन की प्रवक्ता अनम अब्बास ने बताया कि इस मुहिम का असल मक़सद लोगों में चेतना पैदा करना और दहेज देने की प्रथा को एक नकारात्मक चीज़ के तौर पर दिखाना है.
इस मुहिम के ज़रिए वह मर्दों में यह धारणा ख़त्म करना चाहते हैं कि वह लड़की के ख़ानदान से आर्थिक लाभ उठा सकते हैं.
पढ़ें जानें कौन है सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने वाली दो महिलाएं,कैसे किया दर्शन
ठीक उसी दिन पाकिस्तान के अभिनेता अली रहमान ख़ान की शादी की ख़बर काफ़ी चर्चा में आ गई उन्होंने कहा कि वह 20 दिसंबर को निजी टीवी चैनल के मॉर्निंग शो पर शादी रचाएंगे.  
अपने कहे मुताबिक रहमान मॉर्निंग शो में आये और उनकी दुल्हन कोई और नहीं बल्कि दहेज दे भरी एक डोली थी. 
इसको लेकर अली रहमान ने लिखा “जब रिश्वत लेने वाले को रिश्वत ख़ोर कहते हैं तो दहेज लेने वाले को दहेज ख़ोर क्यों नहीं?
दहेज हमारे समाज के हर वर्ग में जड़ें पकड़ चुका है और हमें इस अनियमितता को रोकना होगा.”
वहीं टीवी अभिनेत्री एमन ख़ान ने भी अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा की , “मर्द की इज़्ज़त उस वक़्त कहां होती है जब वह अपनी होने वाली बीवी और उसके ख़ानदान से पैसे और घरेलू साज़ो-सामान मांगता है?” 
इसी तरह अभिनेता उस्मान ख़ालिद बट ने भी अपनी पोस्ट में कहा, “मैं जनता के सामने शपथ लेता हूं कि मैं कभी दहेज नहीं मांगूंगा.
मैं ऐसे पवित्र रिश्ते को केवल लेनदेन का नाम नहीं दूंगा. वक़्त आ गया है कि हम अपने समाज और मानसिकता को तब्दील करें.
ऐसे ही अनेक पाकिस्तान के कलाकार सामने आए और दहेज उत्पीड़न के खिलाफ़ आवाज़ उठायी, अब देखना होगा की इसका असर क्या होगा ये वक़्त तय करेगा.
आम जनता पर क्या पड़ा असर
अगर सेलिब्रिटी को छोड़ दिया जाए तो आम जनता खासकर नौजवान भी इस मुहीम में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं औप सोशल मीडिय़ा पर दहेज के विरोध में पोस्ट कर रहे हैं.
पढ़ें – जानें मेघालय खदान में मजदूरों के फंसने की पूरी कहानी, 18वें दिन भी नहीं मिला सुराग
हालांकी कुछ लोग ऐसे भी जो केवल अपने अनुसार दहेज प्रथा को लेकर सवाल कर रहे हैं.
कुछ लोगों का कहना था कि अगर लड़कियों से दहेज़ लिया जाता है तो लड़कों से भी उनकी आर्थिक स्थिति पूछी जाती है.
फिर रिश्ते के वक़्त लड़कों से उनकी तनख़्वाह, घर का साइज़, गाड़ी का मॉडल पूछना बंद किया जाए क्योंकी ये भी ए तरह से दहेज ही है.