इस महिला ने 110 साल पुराने सूखे पेड़ के अंदर खोल दी लाइब्रेरी

Library In A Tree

Library In A Tree : घर के बाहर एक सूखा पेड़ सड़ रहा था जिसे हटाना था.

Library In A Tree : एक तीर से दो निशाने ये कहावत हमने बहुत सुनी और बोली होगी लेकिन असल मायने में इसको चितार्थ किया है अमेरिका की एक महिला ने.

शारले एमिटेज हॉवर्ड नाम की इस महिला ने अपने अनोखे दिमाग से कुछ ऐसा कर दिया है जिसकी वजह से आज दूनिया भर में ये एक चर्चा का विषय बन गई हैं.
दरअसल शारले ने लगभग 110 साल पुराने एक पेड़ में ही लाइब्रेरी बना डाली . महिला के मुताबिक उसके घर के बाहर एक सूखा पेड़ सड़ रहा था जिसे हटाना था.
लेकिन किताबें पढने की शौक़ीन इस महिला ने उस पेड़ को हटाने के बजाए उसे एक लाइब्रेरी में बदलने का फैसला किया .

पढ़ें इस महिला को नहीं सुनाई देती सिर्फ मर्दों की आवाज, हुई ये बिमारी

आपको बता दें कि ये लाइब्रेरी अमेरिका के इडाहो राज्य में इस आर्टिस्ट ने अपने घर के बाहर सूखे पेड़ में बनाई है, जिसमें फिलहाल बच्चों की 70 से ज्यादा किताबें रखी गई हैं.
शारले ने बताया कि उन्हें लाइब्रेरी को बनाने में 73 डॉलर (करीब 5,133 रुपए) खर्च हुए हैं.
दरअसल शारले ने पहले तो इस पेड़ के निचले हिस्से को काटकर एक अलमारी का रूप दिया है और फिर उसके अंदर छोटी-छोटी एलईडी लाइटें और बाहर एक बल्ब लगा दिया.
इतना ही नहीं उन्होंने पेड़ के तने पर एक छत बनाई और अंदर बेहतरीन नक्काशी करके उसमें एक दरवाजा भी लगा दिया है.
हालांकी ये इतनी बड़ी नहीं है की इसमें अंदर कोई बैठकर पढ़ सके लेकिन फिर भी ये देखने में बेहत खूबसूरत बन रही है.
पढ़ेंसऊदी अरब में कुछ ऐसी है महिलाओं की ज़िन्दगी, नियम-कानून जानकर होश उड़ जायेंगे
इस लाइब्रेरी की सबसे खास बात ये है की ये पूरी तरह मुफ्त है यहां कोई भी आकर किताबें पढ़ सकता है इसके लिए उसे किसी तरह का कोई शुल्क नहीं देना पड़ता.
इसके अलावा अगर कोई अपनी खुशी से इसमें किताबे दान करना चाहे तो वो कर सकता है

Ok, this project isn’t quite finished… but I can’t wait to share it. We had to remove a huge tree that was over 110…

Posted by Sharalee Armitage Howard on Monday, December 10, 2018
इस लाइब्रेरी के बारे में दुनिया को तब पता चला जब शारले एमिटेज ने अपने फेसबुक पर तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा कि, ‘हमें एक विशाल पेड़ को हटाना था, जो 110 साल पुराना था और सड़ रहा था. इसलिए मैंने इसे एक लाइब्रेरी में बदलने का फैसला किया. मैं हमेशा से यह करना चाहती थी. मैंने पूरे पेड़ को हटाने की बजाय उसे कुछ बेहतर रूप देने का फैसला किया . और अब लोगों को यहक्रिएटिविटी काफी पसंद आ रही है.’